Cross Voting करने वालों पर बैठक में Akhilesh Yadav लेंगे बड़ा एक्शन |

राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की तरफ से जमकर क्रॉस वोटिंग हुई नतीजा एनडीए उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू बड़े अंतर से जीती। अब सपा अध्यक्ष क्रॉस वोटिंग करने वाले नेताओं के खिलाफ एक्शन लेने की तैयारी में है।

अखिलेश यादव की सीनियर पदाधिकारियों के साथ बैठक ?

खबर है समाजवादी पार्टी को लेकर जो अब एक्शन मोड में दिखाई दे रही है लेकिन सवाल बनता है कि आखिर क्यों समाजवादी पार्टी बड़े एक्शन लेने वाली है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर पूरा मामला है क्या? राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की तरफ से जमकर क्रॉस वोटिंग हुई इसका सीधा-सीधा फायदा इंडिया उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को हुआ और उन्होंने बड़े अंतर से जीत दर्ज की राष्ट्रपति बनी। और यह बात समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को जरा भी रास नहीं आई। बस फिर क्या था विपक्षी दलों ने क्रॉस वोटिंग करने वाले नेताओं के खिलाफ एक्शन की तैयारी कर ली जहां पहले ही अखिलेश यादव ने इसे लेकर ओमप्रकाश राजभर और चाचा शिवपाल यादव को चिट्ठी लिखी तो वही अब बताया जा रहा है कि अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी में बड़े एक्शन की तैयारी में हैं इसके लिए एक मीटिंग भी रखी गई है।

क्रॉस वोटिंग को लेकर सख्त हुए अखिलेश

खबर है समाजवादी पार्टी को लेकर जो अब एक्शन मोड में दिखाई दे रही है लेकिन सवाल बनता है कि आखिर क्यों समाजवादी पार्टी बड़े एक्शन लेने वाली है। तो चलिए आपको बताते हैं कि आखिर पूरा मामला है क्या? राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की तरफ से जमकर क्रॉस वोटिंग हुई इसका सीधा-सीधा फायदा इंडिया उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को हुआ और उन्होंने बड़े अंतर से जीत दर्ज की राष्ट्रपति बनी। और यह बात समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को जरा भी रास नहीं आई। बस फिर क्या था विपक्षी दलों ने क्रॉस वोटिंग करने वाले नेताओं के खिलाफ एक्शन की तैयारी कर ली जहां पहले ही अखिलेश यादव ने इसे लेकर ओमप्रकाश राजभर और चाचा शिवपाल यादव को चिट्ठी लिखी तो वही अब बताया जा रहा है कि अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी में बड़े एक्शन की तैयारी में हैं इसके लिए एक मीटिंग भी रखी गई है।

26 जुलाई को बैठक में हो सकता है बड़ा एक्शन?

ओमप्रकाश राजभर और शिवपाल यादव को पत्र लिखकर अलग करने के बाद अब समाजवादी पार्टी की तैयारी करो शॉपिंग करने वाले 5 विधायकों के खिलाफ एक्शन लेने वाली हैं। आने वाली 26 जुलाई को अखिलेश यादव पार्टी के सीनियर पदाधिकारियों के साथ एक बैठक करने जा रहे हैं। बता दें इस बैठक में राष्ट्रपति चुनाव में हुई क्रॉस वोटिंग को लेकर चर्चा होगी मगर अभी तक यह बात साफ नहीं हो पाई है कि क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायक कौन कौन हैं? सूत्रों की मानें तो अंदर खाने पार्टी कों कुछ नाम का पता चला है जिनपर शक है शायद इन्हीं विधायकों ने राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग की है। और 26 जुलाई को होने वाली सीनियर पदाधिकारियों की मीटिंग में इन विधायकों को चिन्हित कर इन पर कार्यवाही की जा सकती है। जाहिर है कि अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल यादव और सहयोगी ओमप्रकाश राजभर से अलग हो गए हैं। इसकी चर्चा बीते दिन मीडिया में पूरे दिन चलती रही अखिलेश ने दोनों को साफ तौर पर चिट्ठी लिखकर उन्हें कहां की जहां ज्यादा सम्मान मिले वो वहा जा सकते है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव हुए है तब से अखिलेश यादव और उनके सहयोगी नेताओं के बीच कुछ बयान बाजी का दौर जारी है। ओमप्रकाश राजभर लगातार अखिलेश यादव और सपा के खिलाफ बयान दे रहे थे। तो वही चाचा शिवपाल यादव ने भी कोई कमी नहीं की थी चाचा शिवपाल भी ऐसे ही बयान देने लगे थे जिसके बाद अखिलेश यादव ने दोनों से ही नाता तोड़ लेना ही बेहतर समझा।

विधानसभा चुनाव के बाद से राजभर- शिवपाल की थी अखिलेश से नाराजगी

देखा जाए तो विधानसभा चुनाव के दौरान यह सारी पार्टी एक साथ आ गई थी जिससे की यह बीजेपी को मात दे सके। लेकिन जब सपा और सहयोगी पार्टियों की हार हुई तब से इनके बीच बात बिगड़ती चली गई और नतीजा ओपी राजभर और शिवपाल यादव अलग हो गए अब देखना है कि आखिर 26 जुलाई को मीटिंग में क्या होगा।