ब्लैक फंगस की दवा हुई टैक्स फ्री, कोरोना वैक्सीन पर 5% जीएसटी अभी भी बरकरार।

0
69

केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए ब्लैक फंगस की दवाई पर से टैक्स हटा दिया है जबकि कोरोना वैक्सीन पर 5% की जीएसटी अभी भी लागू रहेगी। कोरोना से जुड़ी राहत सामग्रियों पर मंत्री समूह ने सिफारिश की थी और उन सिफारिशों को आज जीएसटी काउंसिल ने स्वीकार कर लिया है।

यह भी पढ़े :बीते 24 घंटे में हुआ दूसरा आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिस सीआरपीएफ के जवानों को फिर बनाया निशाना।

ब्लैक फंगस की दवा को टैक्स फ्री

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता वाली जीएसटी काउंसिल कि बैठक के बाद ब्लैक फंगस की दवा को टैक्स फ्री करने की इजाजत दे दी है, जबकि कोरोना से जुड़े कुछ अन्य चीजों पर टैक्स की दर को कम करने का आदेश दिया गया है। जीएसटी काउंसिल ने कोरोना वैक्सीन पर 5% जीएसटी अभी भी लागू रखने का फैसला किया है।

यह भी पढ़े :शिरोमणी अकाली दल और बसपा के बीच हुआ गठबंधन, सीटों का बंटवारा भी तय।

जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद से वित्त मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि केंद्र सरकार 75% वैक्सीन की खरीदारी कर रही है। इस खरीदारी पर जीएसटी भी दिया जा रहा है। वित्त मंत्री ने बताया कि जब उसको सरकारी अस्पतालों के माध्यम से आम जनता तक पहुंचेगा तो तो इसका कोई भी असर जनता पर नहीं होने वाला है।

यह भी पढ़े : धारा 370 पर एक बार फिर छलका दिग्विजय सिंह का दर्द, कहा धारा 370 हटाना अत्यंत दुखद निर्णय।

अन्य चीजों पर भी टैक्स की दर कम हुआ

दिल्ली, पश्चिम बंगाल ,उड़ीसा जैसे बहुत से राज्यों में बार – बार कोरोना कि वैक्सीन से जीएसटी को हटाने की मांग कर रहे थे। जीएसटी काउंसिल की बैठक में रेलवे रिमेडेसिवर दवा पर से 12% की जीएसटी को घटा कर 5% कर दिया है। इसके अलावा ऑक्सीमीटर, मेडिकल ग्रेड की ऑक्सीजन और वेंटिलेटर पर भी जीएसटी की दर 12% को घटा कर 5% कर दिया गया है।

यह भी पढ़े : राजस्थान सरकार ने पलक झपकते ही 30 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को एक झटके में किया बेरोजगार।

कोरोना के विकट परिस्थिति में जीएसटी काउंसिल की बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोई। इस बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और वित्त मंत्रालय के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

यह भी पढ़े :  हरियाणा बोर्ड ने जारी किया दसवीं का परीक्षा परिणाम, ना कोई टॉपर ना कोई हुआ फेल।