जानिए क्यों हुआ CSK के Ravindra Jadeja का बुरा हाल ?

0
18
Ravindra Jadeja

CSK में Ravindra Jadeja का बुरा हल ।

10 सालों तक जिस रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने जिस  CSK के लिए किए कमाल पर कमाल आज उसी सीएसके में हो गया उसी रविंद्र जडेजा का बहुत बुरा हाल। अब रविंद्र जडेजा के पास तीन विकल्प ही बचे हैं। और यह तीन विकल्प बताए हैं, टीम इंडिया के पूर्व डायरेक्टर और पूर्व कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने। दरअसल आपको पता ही होगा रविंद्र जडेजा को 16 करोड़ की भारी-भरकम रकम देकर CSK द्वारा रिटेन किया गया था, लेकिन सी एस के की तरफ से जडेजा का प्रदर्शन उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा। कप्तानी सौंपी गई लेकिन असल मायनों में वह कप्तानी कर नहीं रहे थे और हम देख ही रहे थे कि उनके फैसले ज्यादातर कोई और ही लेता था। ऐसे में रवि शास्त्री के मुताबिक वह कप्तान कभी थे ही नहीं। जल बिन मछली की तरह वहां पर फंसे हुए थे। उसके बाद एक चोट लगी और पूरे आईपीएल से बाहर हो गए हैं।

Ravindra Jadeja
Ravindra Jadeja

Ravindra Jadeja ने CSK को इंस्ट्राग्राम पर Unfollow कर दिया ।

खबरें तो अब यह भी आ रही है दोनों ने एक दूसरे को यानी कि जडेजा ने और सी एस के ने एक दूसरे को इंस्टाग्राम पर अनफॉलो भी कर दिया। इन सारी चीजों के बीच खबर यह अब कयास लगाए जाने लगे हैं कि रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को शायद अगली बार 16 करोड़ में नहीं रिटेन किया जाएगा और उनको ऑक्शन टेबल पर भेज दिया जाएगा। शायद उनको रिलीज कर दिया जाएगा। ऐसी तक खबरें आ रही हैं तो सोचिए एक ऐसा खिलाड़ी जो सी एस के की पहली पसंद था इस सीजन मे 16 करोड़ में सबसे पहले उसे आपने रिटेन किया बाद में धोनी को रिटेन किया। वह जडेजा की हालत आज सी एस के ने ऐसी कर दी है की बाहर हो गए हैं।इंस्टाग्राम पर अनफॉलो कर दिया है। और कयास यह लगाए जा रहे हैं कि अब शायद इस सीजन के बाद बाहर कर दिए जाएं।

Ravindra Jadeja के पास अभी भी तीन विकल्प मौजूद हैं : Ravi Shastri 

रवि शास्त्री के मुताबिक पूरे मसले को देखते हुए रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के पास केवल तीन ऑप्शन दिखाई पड़ रहे हैं। पहला ऑप्शन है कि जडेजा धोनी के संन्यास के बाद सी एस के के कप्तान के तौर पर वापसी करें। दूसरा ऑप्शन है कि वह ऋतुराज गायकवाड जैसे युवा कप्तान के नीचे खेलना स्वीकार कर ले। और तीसरा विकल्प है कि जडेजा ट्रेंडिंग के जरिए दूसरी टीम में चले जाएं और वहां कप्तान की भूमिका में नजर आएं।

अब जिस तरह चेन्नई सुपर किंग्स ने जडेजा को इंस्टाग्राम पर अनफॉलो किया है उसके बाद तो अब यही लग रहा है कि अब जडेजा भी झुकेगा नहीं। जो उन्होंने रील भी बनाई थी पुष्पा के तर्ज पर की झुकेगा नहीं।जडेजा भी झुकेंगे नहीं ,और ऐसे में माना जा रहा है कि जडेजा ऑक्शन टेबल पर जाएंगे या फिर ट्रेंडिंग के जरिए किसी और टीम का दामन थाम लेंगे।

यह वही जडेजा हैं जिनको आईपीएल शुरू होने से ठीक 1 दिन पहले नए कप्तान के तौर पर उनके नाम का अनाउंसमेंट हुआ । टीम में महेंद्र सिंह धोनी के रहते हुए रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को कप्तान बनाने का फैसला काफी लोगों के गले नहीं उतरा। मुकाबले शुरू हुए टीम का प्रदर्शन बेहद खराब रहा और जडेजा का खुद का प्रदर्शन भी बेहद खराब रहा। 8 मैचों में केवल दो ही मुकाबले सी एस के जीत पाई। और टूर्नामेंट से बाहर हो गई अब जिन दो मुकाबलों में जीत मिली का क्रेडिट भी महेंद्र सिंह धोनी को दिया गया।

यह भी पढ़े : Delhi’s Mundka Fire News :दिल्ली के मुंडका में भीषण आग में 27 की मौत के बाद 2 गिरफ्तार ।

अब इस पूरे विवाद का असर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के प्रदर्शन पर नजर आया। दुनिया के नंबर वन फील्डर्स में शुमार जडेजा के हाथों से आसान कैच तक मिस होने लगे। जडेजा को देखकर साफ लग रहा था कि वह सिर्फ टॉस करने के लिए मैदान पर जा रहे थे के अलावा कुछ भी उनके हाथ में नहीं था। ऐसा बहुत कम होता है कि कोई कप्तान लगातार बाउंड्री लाइन पर फील्डिंग करें। इशारा साफ था विकेट के पीछे से सारे फैसले धोनी ले रहे थे। हार का ठीकरा जडेजा के सर फोड़ा जा रहा था। और जीत का सेहरा माही के सर बांधा जा रहा था।

इस मानसिक दबाव का असर जडेजा के फील्डिंग पर भी पड़ा उन्होंने कई कैच छोड़े। बॉलिंग में भी इसका असर देखने को मिला विकेट नहीं ले पाए लगातार इकोनॉमिकल गेंदबाजी नहीं कर पाए और खूब पिटाई हुई। फिर आखिरकार जडेजा ने कप्तानी छोड़ना ही बेहतर समझा कप्तानी छोड़ने के बाद बतौर खिलाड़ी टीम में जुड़ना शायद उन्हें रास नहीं आया। और यही वजह रही कि शुरुआती दौर में क्लियर पिक्चर सामने नहीं आई। बाद में रहस्यमई तरीके से चोट की वजह से रविंद्र जडेजा पूरे सीजन से बाहर हो गए।

यह भी पढ़े : UP Board result 2022: यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा का रिजल्ट जल्द होगा जारी

जडेजा के पास ऑप्शन है कि वह अगले साल अगर धोनी संयास ले लेते हैं तो बताओ और कप्तान सी एस के के साथ जुड़े रहें। धोनी ने साफ किया है कि रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को कप्तानी की जिम्मेदारी के बारे में पिछले साल ही बता दिया गया था। इसका साफ मतलब है कि धोनी लंबे अरसे तक अब शायद ही सीएसके के साथ कप्तान के तौर पर जुड़े रहे। जब धोनी टीम में नहीं होंगे तो जडेजा अपने निर्णय आसानी से लागू कर पाएंगे। अपने हिसाब से फील्ड प्लेसमेंट कर पाएंगे। गेंद बाजी परिवर्तन कर पाएंगे। कोई रोक-टोक नहीं होगी। रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) लगातार गेंदबाजों के आसपास फील्डिंग करते हुए मैं अपने हिसाब से बॉलिंग से जुड़ी सलाह भी दे पाएंगे। या फिर दूसरा ऑप्शन है कि टीम मैनेजमेंट के आगे झुक जाएं और ऋतुराज गायकवाड की कप्तानी स्वीकार कर ले।

क्योंकि चर्चा है कि जडेजा से कप्तानी वापस लेने के बाद टीम मैनेजमेंट ऋतुराज गायकवाड को यह जिम्मेदारी सौंप सकता है। अगर जडेजा ऋतुराज की कप्तानी में मैच खेलने को तैयार हैं टीम के साथ बने रह सकते हैं। या फिर जो तीसरा विकल्प है कि वह ट्रेंडिंग के जरिए चेन्नई का साथ छोड़ दें किसी दूसरी टीम को अप्रोच करें या किसी दूसरी टीम में चले जाए वहां कप्तान के तौर पर भूमिका निभाए। जैसे कि डीसी हो गई वहां पर ऋषभ पंत बहुत अच्छी कप्तानी नहीं कर पा रहे हैं केकेआर हो गई श्रेयस अय्यर की कप्तानी में केकेआर लगभग बाहर होने की कगार पर है। केन विलियमसन की यह सफलता बहुत ज्यादा चर्चा में है। इन तीनों में से कोई भी टीम रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) चुन सकते हैं तो अब देखना होगा जडेजा इन तीन टीमों में से इन तीन विकल्पों में से कौन सा विकल्प चुनते हैं। फिलहाल इस खबर में इतना ही।

यह भी पढ़े : मैट्रिमोनियल साइट्स का इस्तेमाल कर 100 से ज्यादा महिलाओं को ठगने वाला शख्स गिरफ्तार