IND vs ENG: Rishabh Pant ने SENA में कटाई नाक, दर्ज हुआ शर्मनाक रिकॉर्ड |

भारत बनाम इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स के मैदान पर खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले में इंग्लैंड की टीम ने भारतीय टीम को 100 रनों से शिकस्त देते हुए सीरीज 1-1 से बराबर कर ली है। आपको बता दें कि इस मुकाबले में कोई भी भारतीय बल्लेबाज टीम इंडिया के लिए रन बनाने में सफल नहीं रहा है। इस मुकाबले में भारत के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत भी कुछ खास कमाल नहीं कर पाए और 0 पर आउट हो गए ऋषभ पंत जहां लगातार टेस्ट क्रिकेट में रनों का अंबार लगा रहे हैं तो वही सफेद प्लेन से खेली जाने वाली क्रिकेट में ऋषभ पंत का बल्ला पूरी तरह से खामोश दिखाई दे रहा है। ऋषभ पंत लगातार सीमित ओवर के क्रिकेट में निराश कर रहे हैं विकेटकीपर बल्लेबाज ने इंग्लैंड के विरुद्ध खेली गई T20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला में भी कुछ खास कमाल करके नहीं दिखाया और दो टी20 मैच खेलते हुए मात्र 27 रन ही बनाए वही जब उन्हें वनडे में मौका दिया गया तो यहां भी ऋषभ पंत फ्लॉप हुए और दूसरे वनडे मैच में 0 रन पर आउट हो गए।

पंत कें नाम दर्ज हुआ शर्मनाक रिकॉर्ड

इसी के साथ अब उनके नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया है आपको बता दें इस साल 2022 में बल्लेबाजी करते हुए ऋषभ पंत तीन बार शून्य के स्कोर पर आउट हुए हैं। अब बतौर भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज एक कलैंडर ईयर में सेना देशों में तीन बार शून्य के स्कोर पर आउट होने वाले ऋषभ पंत पहले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज बन गए हैं। आपको बता दें जनवरी महीने में भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया था इस साल जनवरी महीने में खेले गए दूसरे टेस्ट मुकाबले की दूसरी पारी में ऋषभ पंत 0 रन पर आउट हुए थे। तों वही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई वनडे सीरीज में भी ऋषभ पंत तीसरे वनडे मुकाबले में 0 रन बनाकर आउट हो गए अब वही लॉर्ड्स के मैदान पर खेले गए दूसरे वनडे मुकाबले में भी ऋषभ पंत का खाता नहीं खुला और वों 0 रन पर आउट हुए जिसकी वजह से यह शर्मनाक रिकॉर्ड उनके नाम दर्ज हो गया है।

वाइट बॉल क्रिकेट में ऋषभ पंत पर टीम से बाहर होने का खतरा

हैरान कर देने वाली बात यह है जहां एक तरफ ऋषभ पंत टेस्ट क्रिकेट में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज सभी रिकॉर्ड को ध्वस्त कर रहे हैं वही सीमित ओवर की क्रिकेट में ऋषभ पंत एक के बाद एक खराब प्रदर्शन किए जा रहे हैं। इस साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई घरेलू टी-20 सीरीज में ऋषभ पंत बतौर भारतीय कप्तान खेले थे, पंत ने उस सीरीज में भी पूरी तरह से अपने बल्ले से निराशाजनक प्रदर्शन करके दिखाया था। ऋषभ पंत ने उस पूरी सीरीज में रन नहीं बनाए थे, इसके बाद अभी तक वाइट बॉल क्रिकेट में इंग्लैंड के खिलाफ भी ऋषभ पंत का बल्ला अभी तक पूरी तरह खामोश दिखाई दिया है। ऋषभ पंत को बड़ी पारी खेलने के लिए जाना जाता है लेकिन वाइट बॉल क्रिकेट में उनका प्रदर्शन लगातार घटता ही जा रहा है, भारतीय टीम के लिए ऋषभ पंत को बतौर मुख्य विकेटकीपर के रूप में देखा जा रहा है लेकिन जिस तरह से ऋषभ पंत बल्ले से प्रदर्शन कर रहे हैं वों दिन दूर नहीं जब भारतीय क्रिकेट कों किसी और विकेटकीपर बल्लेबाज कें ऊपर भरोसा जताना होगा। ऐसे में ईशान किशन संजू सैमसन और दिनेश कार्तिक भारतीय टीम के लिए अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं।