Lalitpur Rape Case : अब थाने में भी सुरक्षित नहीं लड़कियां, SHO ने शिकायत कराने आई बच्ची के साथ किया रेप।

0
9
Lalitpur Rape Case
Lalitpur Rape Case

Lalitpur Rape Case : जहां लड़कियां अपने साथ हुए दुष्कर्मों की शिकायत दर्ज करवाने जाती हैं, वहीं उसके साथ अपराध हुआ। ललितपुर में 13 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप हुआ। उसके बाद वह थाने में शिकायत करने गई तो SHO ने भी उसे नहीं छोड़ा।

उत्तरप्रदेश के ललितपुर (Lalitpur Rape Case) थाने में शिकायत कराने पहुंची बच्ची से SHO ने ही रेप किया। लड़की ने बताया कि पाली थाना ललितपुर उत्तरप्रदेश के SHO तिलकधारी सिंह सरोज ने बयान दर्ज करवाने के बहाने थाने के ही कमरे में बंद कर रेप किया। इस बात का खुलासा चाइल्ड लाइन में हुई पीड़िता की काउंसलिंग के दौरान हुआ। लड़की की मां ने इंस्पेक्टर समेत 6 के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़े: LIC निजी से बनी सरकारी कंपनी, अब क्यों हो रहा है निजीकारण ?

Lalitpur Rape Case का आरोपी SHO हुआ गिरफ्तार

केस दर्ज होने के बाद से ही आरोपी SHO फरार था जिसे प्रयागराज में पकड़ लिया गया। SP निखिल पाठक ने SHO को सस्पेंड कर दिया है। इसके बाद ADG जोन भानु भास्कर ने पाली थाने के 29 पुलिसवालों को हटा दिया है। ADG भास्कर ने झांसी रेंज DIG जोगेंद्र कुमार को मामले की जांच का ज़िम्मा दिया है। पीड़िता को मेडिकल के लिए बुधवार को भेज दिया गया है।

Lalitpur Rape Case
Lalitpur Rape Case

पीड़िता की मां ने चाइल्ड लाइन को बताई पूरी घटना

पीड़िता की मां ने सोमवार को चाइल्ड लाइन की टीम को बताया कि 22 अप्रैल को चंदन, राजभान, हरिशंकर और महेंद्र चौरसिया बच्ची को बहला-फुसलाकर भोपाल ले गए थे। वहां 3 दिनों तक उसके साथ रेप किया। इसके बाद 25 अप्रैल को चारों उसे पाली थाने के बाहर छोड़कर भाग गए। पुलिस ने बच्ची की मौसी को बुलाकर उसे सौंप दिया।

यह भी पढ़े: RBI interest rate hike: रेपो रेट में बढ़ोतरी, लगेगा महंगाई का जोरदार झटका |

27 अप्रैल को बच्ची को SHO ने बयान दर्ज करवाने के लिए थाने बुलाया। उसी दिन देर शाम बच्ची के साथ थाने के कमरे में SHO ने रेप किया। 30 अप्रैल को फिर से बच्ची को थाने बुलाया और चाइल्ड लाइन भेज दिया। जहां पर जब बच्ची की काउंसलिंग की तो उसने SHO के रेप करने की बात कही।

Lalitpur Rape Case के मामले पर राजनीती शुरू

अब इस मामले (Lalitpur Rape Case) में सियासत भी तेज़ हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए यूपी सरकार पर निशाना है। प्रियंका ने कहा, “बुलडोजर के शोर में कानून व्यवस्था के असल सुधारों को कैसे दबाया जा रहा है। अगर महिलाओं के लिए थाने ही सुरक्षित नहीं होंगे तो वो शिकायत लेकर जाएंगी कहां?”

यह भी पढ़े: Employment rate in India: CMIE Report BJP शासित Haryana employment में अव्वल !

वहीं दूसरी तरफ सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भी पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने के लिए ललितपुर के लिए रवाना हो गए हैं। उन्होंने जालौन में कहा, “यूपी में कानून व्यवस्था बदहाल है। मुख्यमंत्री दावे तो बड़े-बड़े करते हैं, लेकिन सच्चाई ये है कि प्रशासन तंत्र पर उनका नियंत्रण ही नहीं है। अब तो पुलिस वाले ही रेप की वारदात को अंजाम दे रहे हैं।”

यह भी पढ़े: shaheenbagh drugs bust: Delhi में NCB नें 300 करोड़ की heroine पकडी

लेखक: कशिश श्रीवास्तव