Quad Summit 2022 में रूस – यूक्रेन को लेकर चर्चा, इस बैठक में 4 देश थे शामिल।

0
293
Quad Summit 2022

गुरुवार को हुए क्वॉड शिखर सम्मेलन (Quad Summit 2022) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हिस्सा लिया। क्वॉड शिखर सम्मेलन (Quad Summit 2022) वर्चुअल तरीके से हुआ। वर्चुअल क्वॉड शिखर सम्मेलन में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden), ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison), और जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा (Fumio Kishida) ने भी इस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया।

यह भी पढ़े: Muzaffarnagar में 72 साल का शिक्षक बना हैवान, 9 साल की बच्ची से किया दुष्कर्म।

Quad Summit 2022 में रूस और यूक्रेन को लेकर चर्चा

वर्चुअल क्वॉड शिखर समिट में रशिया और यूक्रेन मामले को लेकर भी चर्चा हुई। इस चर्चा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बातचीत और कूटनीति के रास्ते को अपनाने पर जोर दिया। मोदी ने बताया कि हर मुद्दे का समाधान बातचीत के जरिए निकाला जा सकता है। मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि हमें हिंसा का रास्ता छोड़कर कूटनीति और बातचीत के रास्ते को अपनाना चाहिए और इसके जरिए संकट को खत्म करना चाहिए।

Quad Summit 2022

Quad Summit 2022 में आपसी सहयोग बनाये रखने पर जोर

सितंबर 2021 में हुए क्वॉड शिखर सम्मेलन की बैठक में तय किए गए कुछ मुद्दों की समीक्षा भी गुरुवार को हुए क्वॉड शिखर सम्मेलन में की गई। इस बैठक के दौरान चारों देशों के नेताओं ने इस साल के अंत में जापान में आयोजित होने वाले शिखर सम्मेलन से ठीक पहले ठोस परिणाम को प्राप्त करने के बहुमूल्य उद्देश्य से काम कर आपसी सहयोग में तेजी लाने की बात की।

यह भी पढ़े: Farrukhabad में अंग्रेजी शराब पीने से तीन की मौत, डीएम ने दिए जांच के आदेश।

इस बैठक में बातचीत के दौरान मोदी ने जोर देते हुए बताया कि क्वॉड को भारत प्रशांत क्षेत्र में शांति, समृद्धि को बढ़ावा देना, और स्थिरता देने के मूल्यों के उद्देश्यों पर फोकस करने की आवश्यकता है। मानवी और आपदा राहत, आपूर्ति श्रंखला, कनेक्टिविटी, स्वच्छ ऊर्जा और क्षमता निर्माण जैसे अलग-अलग क्षेत्रों में आपसी सहयोग से व्यवहारिक कदम उठाने की जरूरत है।

यह भी पढ़े: C-17 Globemaster यूक्रेन में फसे भारतीयों के लिए बना संकटमोचन, जाने इसकी खासियत।

पीएम मोदी ने Quad Summit 2022 में अलग – अलग मुद्दे पर दिया जोर

क्वॉड शिखर सम्मेलन के बैठक के दौरान इन सभी नेताओं ने अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा की। इन चर्चाओं में दक्षिण पूर्व एशिया, हिंद महासागर और प्रशांत द्वीप समूह के क्षेत्रों की भी चर्चा हुई। प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र चार्टर अंतरराष्ट्रीय कानून और संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के सम्मान करने के महत्व के बारे में बातचीत की। जापान में होने वाले आगामी शिखर सम्मेलन को लेकर सभी नेताओं ने आपसी सहयोग बनाए रखने और महत्वकांक्षी एजेंडे की दिशा में बेहतरीन काम करने के लिए अपनी हामी भरी।

यह भी पढ़े: Up election 2022: सेना भर्ती कों लेकर Akhilesh Yadav का बडा ऐलान?