Patiala में SBI Bank में बच्चे ने की चोरी, 35 लेकर फरार |

पंजाब के पटियाला में बैंक कर्मचारियों की आंखों में धूल झोंक कर एक बच्चे ने 35 लाख का चूना लगा दिया। बच्चा स्टाफ के सामने 35 लाख रुपए से भरा बैग लेकर आसानी से फरार हो गया कर्मचारियों को जब तक केस के बारे में भनक लगी तब तक बच्चा उनकी पहुंच से दूर जा चुका था। मामला पटियाला के शेरा वाला गेट पर एसबीआई की जोनल शाखा का है जहां पर करीब 12 साल का एक लड़का अपने एक साथी के साथ मिलकर शाखा में पहुंचा स्टाफ जब काम में व्यस्त था ग्राहकों के काम निपटा रहा था तभी बच्चा 35 लाख रुपए से भरा बैग लेकर फरार हो गया। चोरी की इस घटना से पुलिस भी हैरत में पड़ गई है क्योंकि 35 लाख रुपए से भरा बैग कैसियर नें एटीएम में पैसा लोड करने के लिए रखा था। बैंक में सरेआम हुई चोरी पर शक है कि कैश के बारे में बच्चे को पहले से पता था।

पुलिस कों शक, कैश के बारे में बच्चे को पहले से पता था, पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की

घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक घटना बुधवार दोपहर करीब 12:30 बजे की है जब कैशियर ने बैंक की तिजोरी से पैसे एटीएम में लोड करने के लिए निकाले थे। जैसे ही वह कैश के बैक को केबिन के अंदर लावारिस छोड़ कर गया एक लड़का अंदर घुसा और चुपके से बैग लेकर नौ दो ग्यारह हो गया। चोरी की घटना को कुछ लोगों ने देखा भी प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कैश के वजन के कारण बच्चा ठीक से चल भी नहीं पा रहा था। पुलिस ने बैंक के सीसीटीवी फुटेज चेक किया तो पता चला कि बच्चे के साथ एक व्यक्ति था जिसने बैंक के बाहर निकलती ही एक ई रिक्शा कों रोका और कैश लादकर फरार हो गया।

शक के आधार पर पुलिस ने दो बैंक कर्मचारियों से की पूछताछ

पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि लड़के को बैग ले जाने के लिए बकायदा ट्रेंड किया गया था उसने अपराध को पूरी सफाई से अंजाम दिया था। लड़का अच्छी तरह से जानता था कि बैग कहां है और बिना किसी संदेह के केबिन के अंदर चला गया बैंक अधिकारियों ने कहा यह घटना उस समय हुई जब कर्मचारी और मुख्य शाखा के बाहर लगे ATM में नगदी भर रहे थे। एक अधिकारी ने कहा कि आम तौर पर उन केविनो में अनुमति के किसी को जाने की इजाजत नहीं होती। पुलिस अधिकारियों को शक है कि चोरी की इस वारदात में कुछ अंदरोनी लोगों की भूमिका हो सकती हैं। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता क्योंकि कैसियर ने बैग को केवल 3-5 मिनट के लिए लावारिस छोड़ा था। पुलिस ने शक के आधार पर दो कर्मचारियों से पूछताछ की है पटियाला के एसएसपी का कहना है कि आरोपियों का पता लगाने के लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया है हमारे पास कुछ सुराख हैं और हम इस मामले को जल्द सुलझा लेंगे।