Agnipath Scheme का Bharat Band बेअसर, उपद्रवियों से UP Police करेगी वसूली |

एक तरफ पूरे देश में विपक्षी दलों ने पूरे भारत बंद का आवाहन किया है। वहीं दूसरी ओर कुछ राज्यों में इसका रत्ती भर भी असर दिख नहीं रहा हैं खासकर उत्तर प्रदेश में हिंसा को देखते हुए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। जिसके बाद पूरे प्रदेश में कहीं से भी किसी प्रकार की कोई घटना सामने नहीं आई है। यूपी के एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि यूपी में भारत बंद का असर नजर नहीं आया हैं. जों लोंग छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे है उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। यूपी में सुबह से ही उत्तर प्रदेश पुलिस ने व्यापक व्यवस्थाएं की थी पुलिस की बड़ी संख्या में तैनाती की गई थी। पुलिस के मुताबिक कहीं भी कोई असर नहीं दिखा हैं और ना ही किसी प्रकार की अप्रिय घटना हुई है। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और बंद का भी कोई असर नहीं देखा गया है।

UP में अब तक 476 लोंग अरेस्ट होगा कठोर एक्शन

अग्निपथ योजना के खिलाफ सोमवार को भारत बंद का आवाहन किया गया था, एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि शांत व्यवस्था बनाए रखने के लिए सिविल पुलिस के अलावा 141 कंपनियां पीएससी और 10 कंपनी सीपीएस तैनात की गई थी। भारत बंद का असर उत्तर प्रदेश में कहीं भी नहीं दिखा है। बता दें कि सोशल मीडिया पर भारत बंद का आवाहन किया गया था। एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि किसी संगठन ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है हिंसा करने वालों के खिलाफ कठोर धाराओं में मुकदमे दर्ज किए गए हैं और बड़े स्तर पर गिरफ्तारी की जा रही है। अभी तक 39 मुकदमे कायम किए जा चुके हैं और 475 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें से 330 की गिरफ्तारी गंभीर धाराओं में की गई है जो कोचिंग संचालक छात्रों को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं उनके खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की जाएगी। एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि जिन लोगों ने छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ किया है उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों से भी वसूली की जाएगी।