Blockchain Kya Hai | Blockchain क्या है और कैसे काम करता है?

Blockchain क्या है और कैसे काम करता है? (Blockchain Kya Hai): क्रिप्टो करेंसी में पैसे इन्वेस्ट करते समय आपको एक वॉलेट के लिए करना होता है। जिसे वॉलेट आईडी के नाम से भी पहचाना जाता है। उस वॉलेट आईडी के माध्यम से एक वॉलेट से दूसरे वॉलेट में क्रिप्टो कॉइन को ट्रांसफर किया जा सकता है। क्रिप्टो कॉइन आपके वॉलेट में रहते हैं तो आप उसे कभी भी बेच सकते हैं। क्रिप्टो कॉइन खरीदते समय आपको एक ब्लॉकचेन तकनीकी का पालन करना होता है। यह ब्लॉकचेन तकनीकी क्या है।(Blockchain Kya Hai) इसके बारे में आज के आर्टिकल में हम आपको डिटेल में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

ब्‍लॉकचेन तकनीक क्या है? | Blockchain Kya Hai

Blockchain Kya Hai
Blockchain Kya Hai

Blockchain Kya Hai: ब्लॉकचेन एक प्रकार का डिजिटल लेजर होता है। ब्लॉक चेंज जो एक तरह की बुक वह अकाउंट है। जिसमें डेबिट व क्रेडिट ट्रांजैक्शन पोस्ट होते हैं और बुक की तरह ओरिजिनल एंट्री कुछ लेजर में अपडेट होती रहती है। जिसके माध्यम से क्रेडिट और डेबिट की सारी जानकारी मिल जाती है। इसी आधार पर ब्लॉकचेन निर्भर होता है। ब्लॉकचेन को डिजिटल वॉलेट भी कहा जाता है।

Blockchain का आविष्कार किसने किया?

Blockchain Kya Hai: ब्लॉकचेन तकनीकी के आविष्कार के बारे में बात की जाए तो ब्लॉक 10 तकनीकी को इन्वेस्ट संतोषी नाका मोटो के द्वारा खोजा गया है। इस तकनीकी को 2008 में संतोषी  नाका मोटो के द्वारा सभी लोगों के सामने लाया गया। यह एक क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन जैसे करेंसी को डेबिट व क्रेडिट की एंट्री ओं के हिसाब को आसानी से रखने के लिए बनाई गई है। यह ब्लॉकचेन जिसके माध्यम से पब्लिक ट्रांजैक्शन के सभी हिसाब लेदर के माध्यम से ब्लॉकचेन के तहत रखे जाते हैं।

ब्लॉकचेन का मुख्य रूप से प्रयोग बिटकॉइन करेंसी के लेन-देन के समय किया जाता है। यह एक डबल स्पेंडिंग प्रॉब्लम को हल करने के लिए बनाई गई टेक्नोलॉजी है। जिसके माध्यम से सेंट्रल सर्वर की मदद से डेबिट व क्रेडिट की सारी जानकारी ब्लॉक्ड एंड टेक्नोलॉजी के जरिए लेजर में सुरक्षित की जाती है।

ब्लॉकचेन के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी जो पब्लिक एग्जिट की जरूरत को पूरा करने के लिए बनाई गई है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के माध्यम से प्राइवेट एग्जिट भी किया जा सकता है।
  • ब्लॉकचेन के जरिए फाइनेंस के क्रेडिट कार्ड डेबिट एंट्री को एक लेजर मैसेज कर रखा जाता है यह डिसटीब्यूट लेजर की तरह काम करता है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की पहुंच फाइनेंस से भी अधिक है और इसी वजह से इस टेक्नोलॉजी को मल्टीस्टेप ट्रांजैक्शन की विजिबिलिटी के दौरान उपयोग किया जाता है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के जरिए प्रोडक्ट और ऑडिट दोनों आसानी से Manage किए जा सकते हैं।

Blockchain कितना सुरक्षित है?

Blockchain Kya Hai: जब लोग केप्ट ओं करंसी में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के माध्यम से इन्वेस्ट करने के बारे में सोचते हैं, तो लोगों के मन में सबसे पहले यही सवाल पैदा होता है कि इंटरनेट पर आज के समय में अधिकतर प्लेटफार्म सुरक्षित नहीं है क्या यह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी सुरक्षित है या नहीं है ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी काफी हद तक सुरक्षित मानी जाती है इस टेक्नोलॉजी को हैक करना पॉसिबल नहीं है। ब्लॉक चैन टेक्नोलॉजी के कोई भी ट्रांजैक्शन ने इंटरनेट पर किसी भी अन्य थर्ड पार्टी को इस कष्ट नहीं देते हैं। नेटवर्क के सभी नोट को एग्री करने की ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी में जरूरत नहीं है।

Blockchain टेक्नोलॉजी के फायदे

  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के फायदों के बारे में बात की जाए तो ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी हर समस्या का समाधान है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के माध्यम से मनी पापुलेशन की समस्या को खत्म किया जा रहा है और इस टेक्नोलॉजी के जरिए हाईएस्ट डिग्री ऑफ अकाउंटेबिलिटी के स्तर को स्थिर किया जा रहा है।
  • ऑनलाइन आइडेंटी और रेपुटेशन को डिसेंट्रलाइज्ड करने में ब्लॉकचेन मुख्य अपनी भूमिका निभाता है।
  • ब्लॉक जनप्रतिनिधि के माध्यम से बड़े-बड़े डेबिट व क्रेडिट की आंटियों को एक लेजर सहेज में रखा जा सकता है।
  • क्रिप्टो करेंसी को कंट्रोल करने के लिए ब्लॉकचेन तकनीकी का उपयोग किया जाता है।
  • ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी की मदद से इश्यूज और फ्रीडम को संतुलित कर के सुचारू ढंग से चलाया जा सकता है।

Blockchain का भविष्य

Blockchain Kya Hai: ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के भविष्य के बारे में बात की जाए तो भविष्य में होने वाले लगभग सभी कार्य ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर ही आधारित हो गई है। क्योंकि ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी के माध्यम से किसी भी इंफॉर्मेशन को हैक करना काफी मुश्किल है और इस इंफॉर्मेशन को थर्ड पार्टी एप्लीकेशन देने की अनुमति नहीं होती है। जिससे हर तरह की एंट्री हो इंफॉर्मेशन सुरक्षित रहती है। इतना ही नहीं बड़े-बड़े डेबिट व क्रेडिट की एंट्री ओं को एक लेजर में आसानी से ब्लॉक चेंज तकनीकी के माध्यम से सहेज कर रखा जा सकता है। भविष्य में ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का प्रयोग निरंतर बढ़ता जाएगा।

निष्कर्ष

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का प्रयोग करने वाले सभी सिस्टम पूरी तरह से सुरक्षित माने जाते हैं और इसी वजह से भविष्य में भी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी का प्रयोग करने के बारे में लोग सोचते हैं। आज के आर्टिकल में हमने आपको वॉलेट आईडी ब्लॉक चैन क्या होता है(Blockchain Kya Hai) और ब्लॉक चेंन कैसे काम करता है इसके बारे में डिटेल में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी।

Leave a Comment