Jahangirpuri में bulldozer के आगे क्यों खड़ी हुई Brinda Karat?

0
5

इन तस्वीरों को जरा गौर से देखिए यें नजारा है, दिल्ली की जहांगीर पुरी का जहां अतिक्रमण हटाने पहुंची। MCB का सामना राजनीति के लेफ़्टिस्ट-मिजाज से हुआ दरअसल दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में अवैध निर्माण हटाए जाने कि कार्यवाही की जा रही थी। तभी भारी हंगामे और शोर-शराबे के बीच सीपीआई नेता वृंदा करात पहुंच गई और वहां अतिक्रमण के काम में लगे बुलडोजर के सामने खड़ी हो गई। उनका कहना था, कि इस अतिक्रमण के लिए बुलडोजर को उनके ऊपर से गुजर ना होगा। उन्होंने कहा कि गरीबों के घरों और मकानों को वें ऐसे नहीं गिरने देंगे, दौरान उन्होंने पीडब्ल्यूडी और नडीएमसी के अफसरों और उनकी कार्रवाई का जमकर विरोध किया। वो वहा कुछ देर डर्टी रही और बस यही कहती रही बुलडोजर को उनके ऊपर से होकर गुजरना होगा, हालांकि काम में लगे बुलडोजर ने सीपीआई नेता वृंदा करात की यें हसरत तो पूरी नहीं थी। अलबत्ता कुछ देर विरोध करने के बाद और पुलिस की शक्ति की वजह से उन्हें वहां से हटना पड़ा।

दिल्ली में JCB के आगे खड़ी हुई वृंदा करात…?

जहांगीर पुरी में की गई तोड़-फोड़ की कार्रवाई को लेकर देश का सियासी माहौल भी पूरी तरह गरमा उठा है। इस पर सीपीएम के कड़े विरोध के बाद केंद्रीय मंत्री मुख्तार वास नकवी ने कहा कि अतिक्रमण की कार्रवाई कानून के मुताबिक की जा रही है। उधर ओखड़ा से आम आदमी पार्टी के विधायक अमर तुल्ला ने भी इस कार्रवाई की निंदा की है, उन्होंने कहा कि रमजान में की गई इस कार्रवाई से इलाके में माहौल और खराब हो सकता है। गौरतलब है कि बीजेपी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मंगलवार को ही एमसीडी को एक पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने जहांगीर पुरी में दंगाइयों के अवैध निर्माण की पहचान और उसे ढहाने की बात कही थी। गौरतलब है कि हनुमान जयंती के दिन दिल्ली के जहांगीर पुरी इलाके से गुजर रही शोभा-यात्रा पर पथराव की घटना सामने आई थी। जिसके बाद माहौल तनाव पूर्ण हो गया था, उसी दौरान चली गोली में पुलिस के एक अधिकारी भी जख्मी हो गए थे।