Tokyo Olympics: भारतीय हॉकी पुरुष टीम नें, 41 साल बाद ओलंपिक में जीता मेडल

Tokyo Olympics: भारतीय हॉकी पुरुष टीम नें, 41 साल बाद ओलंपिक में जीता मेडल

भारत ने आखिरी बार 29 जुलाई 1980 ओलंपिक में मेडल जीता था। हॉकी में 5 अगस्त 2021 41 साल बाद भारत ने एक नया इतिहास रचा है। bronze मेडल जीत लिया है भारतीय हॉकी पुरुष टीम नें 5-4 से जर्मनी को हराकर कांस्य पदक जीत लिया है।

ओलंपिक में भारत नें जर्मनी को, 5-4 से हराकर जीता 9वां मेडल

आपको बतादे कि ओलंपिक में भारत का 9वां मेडल है। भारत नें ओलंपिक में सबसे ज्यादा हॉकी में ही मेडल जीते हैं। एक समय था जब भारतीय हॉकी टीम का वर्ल्ड हॉकी में दबदबा था। 1980 के बाद कहीं ना कहीं हमने देखा है। भारतीय हॉकी टीम क़ो संघर्ष करते हुए। 1980 के ओलंपिक में भारत नें गोल्ड मेडल जीता था। टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत ने कांस्य पदक जीता है।

भारत की ओर से सबसे ज्यादा सिमरनजीत सिंह नें दो गोल दागे

भारत नें 41 साल बाद यह उपलब्धि हासिल की है। हॉकी के मैदान में आपको बता दें यह जो मुकाबला काफी ज्यादा रोमांचक था। भारत ने हाफ टाइम तक 3-3 की बराबरी कर ली थी जर्मनी के साथ बाद में भारत ने दो और गोल दागे। एक गोल जर्मनी ने भी किया बढ़त के आस पास आने की लेकिन उनको बढ़त नहीं मिल पाई। 20 मिनट पर लगा कहीं ना कहीं उलट फेर हो सकता है। अंतिम समय में जर्मनी क़ो प्लेंटी कार्नर मिला। लेकिन जर्मनी की तरफ से वो गोल में तब्दील नहीं हो पाया। भारत की ओर से सबसे ज्यादा सिमरनजीत सिंह ने दो गोल दागे। बाकी के तीन गोल रूपिंदर पाल सिंह, हार्दिक सिंह, हरमनप्रीत सिंह की तरफ से आये।