Up election 2022 phase 3 voting: 59 सीटों पर वोटिंग जारी सुरक्षा के कड़े इंतजाम?

उत्तर प्रदेश में आज तीसरे चरण के लिए 16 जिलों की 59 सीटों पर वोटिंग हो रही है। सुबह 7:00 बजे शुरू हुई मतदान की प्रक्रिया लगातार जारी है, वोटिंग को लेकर लोगों में गजब का उत्साह दिखाई दे रहा है। महिलाएं, पुरुष और बुजुर्ग वोटर्स के साथ ही युवा वोटर मतदान में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं, लोग लोकतंत्र के सबसे बड़े पर में आहुति देने के लिए कतार में अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। और जैसे ही उनका नंबर आ रहा है, वें वोट डालकर अपना उम्मीदवार चुन रहे हैं। आज तीसरे चरण में सभी मतदान केंद्रों पर शांति पूर्वक वोटिंग चल रही है, 2 करोड़ 16 लाख मतदाता 627 उम्मीदवारों के भाग्य का कर रहे हैं। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के लिहाज से पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, सुरक्षा को लेकर पुलिस और प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद नजर आ रही है। केंद्रीय सैनिक बल की कंपनियों के साथ ही PSC और बड़ी संख्या में स्थानीय पुलिस के जवान मतदान केंद्रों पर मोर्चा संभाले हुए हैं, संवेदन शील बूथों की निगरानी ड्रोन कैमरो से की जा रही है। मतदान केंद्रों पर वोट डालने पहुंच रहे लोगों को वोटर आईडी कार्ड के सत्यापन के बाद मतदान करने के लिए प्रवेश दिया जा रहा है।

तीसरे चरण में आज इन जगहों पर हो रही है, वोटिंग?

जिन लोगों के पास किन्ही कारणों से वोटिंग आईडी कार्ड नहीं है, उनके फोटो युक्त पहचान पत्र देख कर उन्हें मतदान केंद्रों के भीतर प्रवेश दिया जा रहा है। आपको बता दें निर्वाचन आयोग वोट डालने के लिए वोटर आईडी के साथ ही आधार कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, बैंक के डाकघर द्वारा जारी फोटो युक्त पहचान पत्र, सब मंत्रालय की योजना के तहत स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पैन कार्ड को भी मान्य किया गया है। आज जिन जिलों में वोटिंग हो रही है, उनमें हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, कासगंज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, जालौन, झांसी, ललितपुर, हमीरपुर और महोबा शामिल है। इन जिलों की जिन विधानसभा सीटों पर आज मीटिंग जारी है, उनमें हाथरस, सादाबाद, सिकंदराराऊ, जसराना, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, सिरसागंज, कासगंज, पटियाली और अलीगंज शामिल है। इसके अलावा एटा, जलेसर, मैनपुरी, करहल जैसी आदि सीटें शामिल हैं। इन सभी 59 सीटों पर शाम 6 बजे तक वोटिंग जारी रहेगी इसके बाद सभी उम्मीदवारों का भविष्य EVM में कैद हो जायेगा। और 10 मार्च को नतीजों वाले दिन सबकी किस्मत का फैसला होगा कि किसे सियासी ताज पहनने का सौभाग्य प्राप्त होता है।