Mumbai में Corona के XE Variant पर सस्पेंस?

0
3
XE Variant
XE Variant

XE Variant:– भारत में कोरोना वायरस का XE वेरिएंट का पहला केस मिलने की खबर ने हड़कंप मचा दिया है। खबर आई थी कि मुंबई में कोरोना क़े ओमिक्रॉन क़े XE वेरिएंट का पहला मामला दर्ज किया गया लेकिन फील-हाल अब इस नए वेरिएंट क़े मिलने पर सस्पेंस बना हुआ है।

एक तरफ BMC ने दावा किया कि मुंबई में कोरोना वायरस का Covid नया XE Variant का मामला सामने आया है, लेकिन दूसरी तरफ हेल्थ मिनिस्ट्री नें इस नए वेरिएंट क़े मिलने से इनकार कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है, कि मरीज के सैंपल की जिनोम सीक्वेंसिंग से XE वेरिएंट होने का कोई भी सबूत नहीं मिला है। वहीं दूसरी तरफ BMC नें यह दावा किया है, की कोरोना वायरस क़े XE वेरिएंट से संक्रमित मरीज की पहचान हुई है। जिससे दहशत का माहौल बना हुआ है, BMC की 0 सर्वे रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई की 50 साल की महिला में XE वेरिएंट मिला है। बड़ी बात यह है कि महिला को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी थी। महिला एसिंप्टोमेटिक थी। मतलब उसमें कोरोना वायरस के कोई लक्षण नजर नहीं आए, हालांकि कुछ देर बाद ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय नें इन खबरों का खंडन कर दिया।

Covid-19 new variant XE in India

 

Health Ministry नें खबरों का किया खंडन!

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक नमूने के संबंध में फास्ट क्यू फाइले जिसे कोविद-19 का XE वेरिएंट(XE Variant) कहां जा रहा है। उसका विश्लेषण जीनोमिक एक्सपर्ट्स द्वारा किया गया है। जिन्होंने अनुमान लगाया है कि इस वेरिएंट का जिनोमिक कांस्टीट्यूशन XE वेंरीएट जिनोमिक पिक्चर से संबंधित नहीं है, अब यह नया वेरिएंट है, या नहीं? इसकी पुष्टि के लिए नमूना आगे के विश्लेषण के लिए नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ बायो मेडिकल जिनोमिक्स को भेजा जाएगा। जिसके बाद साफ होगा कि भारत में इस नए वेरिएंट ने दस्तक दी है, या नहीं। गौरतलब है कि कोरोना वायरस के XE वेरिएंट के कारण एशिया और यूरोप कि कई देश कोरोना वायरस की चौथी लहर का सामना कर रहे हैं। Read also- Covid 19 New Varient XE ने भारत में दी दस्तक, ओमीक्रॉन से ज्यादा घातक, WHO ने जारी की चेतावनी।

वही XE Variant से चीन की स्थिति सबसे ज्यादा गंभीर बनी हुई है, साउथ कोरिया में डराने वाले मामले रोजाना सामने आ रहे हैं। ऐसे समय में एक घातक वायरस ने चिंता पैदा कर दी है, हालांकि भारत के लिए फ़िलहाल कोई चिंता की बात नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक टॉप हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि XE वेरिएंट भारत के लिए इतना गंभीर मसला नहीं है, भारत के लिहाज से काफी राहत भरी खबर है ये XE वेरिएंट डेल्टा जितना प्रभावी नहीं होगा, यें ज्यादा गंभीर बीमारी का कारण नहीं बन रहा है। जिसको वैक्सीन लगी है, उसमें शुरुआती कोई गंभीर लक्षण भी नहीं दिखाई दे रहे हैं।