अजीबोगरीब मामला: एक ही मरीज में कोरोना वायरस के दो अलग-अलग वेरिएंट का हुआ संक्रमण, Double इन्फेक्शन कैसे होता है?

0
258
कोरोना वायरस

दुनिया का एक सबसे अजीबोगरीब मामला सामने आया है। पिछले करीब 2 साल से कोरोना महामारी के बीच एक दुनिया का पहला ऐसा मामला मिला जिसमें एक ही मरीज के अंदर कोरोना वायरस के दो अलग-अलग वेरिएंट का संक्रमण पाया गया हो। यह संक्रमण एक महिला में पाया गया है जो बेल्जियम की रहने वाली है, जिसकी उम्र 90 साल है।

कोरोना वायरस

यह भी पढ़े: महंगाई भत्ता : महंगाई के बीच आई राहत की खबर, 17% से बढ़कर 28% हुआ DA

इस महिला में कोरोना वायरस के दो वेरिएंट का संक्रमण एक साथ मिला है। इस महिला को 3 मार्च को कोरोना वायरस ने संक्रमित किया था। जिसके बाद इसके अंदर अल्फा और बीटा वेरिएंट की पुष्टि एक साथ हुई। इन दोनों वेरिएंट के मिलने के बाद महिला की हालत तेजी से बिगड़ने लगी और अस्पताल में भर्ती होने के 5 दिन बाद ही उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़े: इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय टीम के लिए आई बुरी खबर, ऋषभ पंत कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से हुए संक्रमित।

महिला में नहीं लगवाई थी वैक्सीन की कोई भी डोज 

खबर के मुताबिक इस महिला को वैक्सीन का कोई भी डोज नहीं लगा था। इस अजीबोगरीब मामले को यूरोपियन कांग्रेस की एनुअल मीटिंग में रखा गया है। इससे पहले एक मामला था जिसमें एक ही समय में एक इंसान को अलग-अलग वायरस संक्रमित कर चुके थे, लेकिन कोरोना के वेरिएंट के मामले में यह ऐसा पहला मामला मिला है जिसमें एक ही मरीज के अंदर कोरोना के दो अलग अलग वेरिएंट का संक्रमण पाया गया हो।

यह भी पढ़े:  सावधान : चीन के निशाने पर State Bank Of India के ग्राहक।

यह भी पढ़े: महंगाई भत्ता : महंगाई के बीच आई राहत की खबर, 17% से बढ़कर 28% हुआ DA

कैसे होता है कोरोना वायरस का double इन्फेक्शन?

एक्सपर्ट की राय के मुताबिक यह बेहद दुर्लभ मामला है जिसमें एक ही वायरस के दो अलग-अलग वेरिएंट एक ही इंसान में पाए जाते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक जब कोई वेरिएंट इंसानों को संक्रमित करता है, तो वह पूरे शरीर में अपनी संख्या बढ़ाना शुरू करता है और कोशिकाएं प्रभावित होने लगती हैं। लेकिन इस संक्रमण की वजह से कुछ कोशिकाएं प्रभावित नहीं होती।  जिसके बाद कोई दूसरा वेरिएंट इन कोशिकाओं पर आक्रमण करके संक्रमित कर सकता है। इस तरह से एक ही मरीज के अंदर यह दोनों वेरिएंट का संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन यह बेहद दुर्लभ मामला होता है।

यह भी पढ़े: Rudraksha convention centre : पीएम मोदी का आज काशी दौरा, जाने क्या है शिवलिंग के आकार का बना रुद्राक्ष।