Covid-19 Update: गाजियाबाद क़े प्राइवेट स्कूल में 5 students हुए कोरोना पॉजिटिव ?

Covid-19 Update in India– देश में कोरोना वायरस के मामले भले ही कम हो गए हो लेकिन अभी खतरा टला नहीं है। कोरोनाका नया XE वेरिएंट भी भारत में हो चुका है, देश दुनिया में जिस तरह कोरोना के नए वेरिएंट एक के बाद एक आ रहे हैं।इससे यह तो साफ है कि कोरोना वायरस गया नहीं है, वो कभी भी किसी समय फिर से कहर मचा सकता है।इसी बीच एक और डराने वाली खबर सामने आई है।

गाजियाबाद (Ghaziabad) में दो ही स्कूलों के 5 छात्र कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिसके बाद हड़कंप मच गया है, कोरोना केस(Covid Case) मिलने के बाद स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया है। अब ऑनलाइन क्लासेस होंगी, गाजियाबाद के इंदिरापुरम अभय खंड 2 में संत फ्रांसिस स्कूल के दो दो बच्चों की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आई है। और वैशाली सेक्टर 6 के KR मंगलम स्कूल के 3 छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। पिछले 24 घंटे के अंदर 2 स्कूलों के 5 बच्चों में कोरोना का संक्रमण मिलने से अभिभावकों की चिंता भी बढ़ गई हैं, गौरतलब है जब कोरोना वायरस के केस कम आने शुरू हुए थे। सभी स्कूलों को खोलने का फैसला किया गया लेकिन एक बार फिर से ही स्कूलों में मिले इन मामलों नें नई लहर के आने का संकेत दे दिया है। जिसके बाद इन दोनों की स्कूलों कों बंद करने का फैसला लिया गया है, बच्चों के कोरोना वायरस से पॉजिटिव होने की जानकारी रविवार को अभिभावकों ने स्कूल में दी थी। जिसके बाद स्कूलों को सैनिटाइज करवाया गया और इसके बाद स्कूलों को बंद कर दिया गया है। चेक करे – Covid-19 Update in India

गाजियाबाद स्कूल के 5 छात्रों को हुआ कोरोना (Corona) मचा हड़कंप?

संत फ्रांसिस स्कूल 19 अप्रैल को खोला जा सकता है, वही केआर मंगलम स्कूल को 11 और 12 अप्रैल के लिए बंद कर दिया गया है। रविवार को स्कूल परिसर और बसों को सेनीटाइज किया गया था, मंगलवार शाम को स्थिति को देखकर स्कूलों को बंद रखने या खोलने के फैसले में बदलाव हो सकता है। बता दें कि संत फ्रांसिस स्कूल के दो बच्चों की तबीयत बुधवार से ही से ही खराब थी, जिसके कारण वो 6 अप्रैल से ही स्कूल नहीं आ रहे थे। यह भी पढ़े- WHO full form in Hindi | WHO की फुल फॉर्म क्या है?

इसके बाद अभिभावकों की तरफ से रविवार को बताया गया कि बच्चों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिसके बाद में स्कूल में सावधानी बरतने की बात कही गई वहीं बच्चों के कांटेक्ट में आए सभी बच्चों से कोरोना जांच कराने के लिए भी कहा गया है। जिससे समय रहते ही इलाज शुरू हो सके ऐसे में कोरोना वायरस की चौथी लहर का ढेर एक बार फिर सताने लगा है। बता दें कि देश के कई राज्यों में भी कोरोना वायरस के मामले डराने लगे है, रोजाना कुछ दिनों से दिल्ली, हरियाणा और गुजरात में कोरोना वायरस के मामले बढ़े हुए हैं। जिसने चिंता बढ़ा रखी है, इन आंकड़ों को देखने के बाद कहा जा रहा है कि खतरा टला नहीं है। कोरोना वायरस की चौथी लहर कब दस्तक दे देगी कुछ कहा नहीं जा सकता इस लिए सावधान रहना बेहद जरूरी है।

Leave a Comment