जसप्रीत बुमराह बनें, टेस्ट टीम के कप्तान 35 साल बाद होगा ऐसा

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा इंग्लैंड के साथ खेले जाने वाले अंतिम और ऐतिहासिक टेस्ट मुकाबले से पहले भारतीय टीम से बाहर हो गए हैं। रोहित शर्मा को 1 जुलाई से खेले जाने वाले टेस्ट मुकाबले से पहले कोविड पॉजिटिव होने के चलते टेस्ट मैच से बाहर होना पड़ा है। आपको बता दें कि इस टेस्ट मैच के लिए भारतीय कप्तान जसप्रीत बुमराह को चुना गया है। अब भारत की टेस्ट क्रिकेट के 35 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब तेज गेंदबाज भारतीय टीम के टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी करेगा।

35 साल पहले यें गेंदबाज कर चुका है भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी ?

जसप्रीत बुमराह से पहले भारतीय दिग्गज और भारत को सबसे पहला विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव वें आखरी तेज गेंदबाज थे, जिन्होंने भारत के लिए टेस्ट में कप्तानी की और 35 साल बाद जसप्रीत बुमराह के रूप में भारतीय टीम का कप्तान एक तेज गेंदबाज होगा। जसप्रीत बुमराह पहली बार क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में भारतीय टीम की कप्तानी करने जा रहे हैं। इस साल भारतीय टीम पांचवा टेस्ट मुकाबला खेलने जा रही है और कमाल की बात तो यें है कि भारतीय टीम के लिए पांचवें टेस्ट मैच में जसप्रीत बुमराह चौथे कप्तान रहेंगे।

इस साल 5वें टेस्ट में चौंथे कप्तान होंगे जसप्रीत बुमराह

इस साल भारतीय टीम ने दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध दो टेस्ट श्रीलंका के खिलाफ दो टेस्ट और अब इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच खेलना है। दक्षिण अफ्रीका में दूसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली की गैरमौजूदगी में केएल राहुल को कप्तान बनाया गया था, वहीं तीसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली बतौर कप्तान टीम में वापस आए थे। इसके बाद विराट कोहली ने टेस्ट कप्तानी से इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद श्रीलंका सीरीज में रोहित शर्मा भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान बने और अब जसप्रीत बुमराह भी इसी साल टेस्ट में बतौर कप्तान डेब्यू करने जा रहे है और जसप्रीत बुमराह कें कप्तान बनते ही भारत को इस साल 5वें टेस्ट मैच में चौथा कप्तान मिलेगा।