Sanghamitra Maurya नें कहा- BJP कहेगी तब भी Swami Maurya के खिलाफ नहीं करूंगी प्रचार?

0
2

उत्तर प्रदेश (UP) विधानसभा चुनाव की तारीखें जैसे-जैसे पास आ रही है, राजनैतिक सरगर्मियां उतनी ही बढ़ती जा रही हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश (UP) भारतीय जनता पार्टी (BJP) को बहुत बड़ा झटका लगा था जब उत्तर प्रदेश (UP) योगी सरकार में मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) भारतीय जनता पार्टी (BJP) छोड़कर समाजवादी पार्टी (SP) में शामिल हो गए थे, लेकिन उनकी बेटी और बदायू सांसद संघमित्रा मौर्य (Sangamithra Maurya) अभी भी भारतीय जनता पार्टी (BJP) में है। अब भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) को लेकर एक बडा बयान दिया है, संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें कहा कि वह प्रचार करने वहा नहीं जाएंगी जहां से उनके पिता चुनाव लड़ेंगे। NDTV से खास बात चीत में संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें कहा कि प्रधानमंत्री मोदी भी उनके पिता की तरह है, लेकिन अगर पार्टी ने कहा तब भी वह अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के खिलाफ प्रचार नहीं करेंगी। उन्होंने कहा कि मैं भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ हूं, और रहूंगी मेरे पिता नें समाजवादी पार्टी (SP) में जाने से पहले कोई चर्चा नहीं की थी।

Sanghamitra Maurya नें कहा- BJP कहेगी तब भी Swami Maurya के खिलाफ नहीं करूंगी प्रचार?

संघमित्रा मौर्य अपने पिता के खिलाफ नहीं करेंगे प्रचार?

संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें कहा कि मेरे ऊपर भारतीय जनता पार्टी (BJP) छोड़ने का भी कोई दबाव नहीं है। NATV से बात चीत मे संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें कहा कि पारिवारिक जीवन और राजनीति जीवन दोनों अलग-अलग है, मैं पूरे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) का प्रचार करूंगी लेकिन पार्टी के कहने पर वहां नहीं जाऊंगी जहां से मेरे पिता चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा मुझे भारतीय जनता पार्टी (BJP) वालों से वफादारी कर सर्टिफिकेट देने की कोई जरूरत नहीं है। आपको बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) कुशीनगर की पडरौना सीट से विधायक हैं, स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) नें हाल ही में उत्तर प्रदेश (UP) में सरकार मंत्री पद से इस्तीफा दिया था और समाजवादी पार्टी (SP) में शामिल हो गए थे। साल 2016 में स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) नें मायावती (Mayawati) की बहुजन समाजवादी पार्टी (BSP) छोड़कर 2017 के उत्तर प्रदेश (UP) चुनाव से पहले ही भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थाम लिया था। गौरतलब है कि स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) के समाजवादी पार्टी (SP) में शामिल होने पर भी संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें फेसबुक पर एक भावुक पोस्ट लिखा था, जिसमें पिता और पार्टी के बीच संतुलन बनाने की कोशिश की गई थी।

Sanghamitra Maurya नें अपने पोस्ट में लिखा?

संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें अपनी पोस्ट में लिखा था, कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के साथ है। उन्होंने आगे लिखा था, कि मैं कुछ मांगो और वह पिता पूरा ना करें ऐसे तो हालात नहीं मैं पुकारूं और पापा ना सुने इतने भी हम दूर नहीं पिता और बेटी का रिश्ता दुनिया का सबसे मजबूत रिश्ता है। संघमित्रा मौर्य (Sanghamitra Maurya) नें अपने पोस्ट में लिखा था कि मैं देश में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी के मुझे बेटी के रूप में मेरे पिता से मांगे हुए वचन से बंधी हुई हूं। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव होने हैं, पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को होगा और सातवें और आखिरी चरण का मतदान 7 मार्च को होगा, इसके बाद 10 मार्च को वोटों की गिनती होगी।