Covid-19 updates: एक दिन में बढ़े 90% Corona case केंद्र ने राज्यों को लिखा पत्र…?

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण का ग्राफ एक बार फिर तेजी से बढ़ा है। जहां एक तरफ कोरोना क़े मामलों में लगातार गिरावट देखने को मिल रही थी, लेकिन एका एक कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में आए उछाल के बाद केंद्र सरकार अलर्ट मोड पर आ गई है लेकिन केंद्र सरकार इस संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों की वजह कुछ और ही बताई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा है, कि केरल समेत कुछ राज्यों में समय बद्ध तरीके से कोरोना के आंकड़ों को नहीं भेजा है। जिसके चलते हैं आंकड़ों में उछाल देखने को मिल रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि केरल में 13 अप्रैल से लेकर 17 अप्रैल तक राज्य में आए कोरोना संक्रमण के मामलों का कोई आंकड़ा केंद्र को नहीं भेजा जिसके कारण आज केरल में 940 नए केस रिपोर्ट किए है। लिहाजा इसमें बीते दिनों आए कोरोना संक्रमण के मामले भी शामिल हैं, यही वजह है कि केरल में बीते पांच दिनों में कोरोना के कारण हुई 213 मौतों को दिखाया है।

1 दिन में 90% बढ़े कोरोना केस केंद्र सरकार नें बताई वजह!

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने पूरा बेवरा जारी करते हुए बताया कि केरल के 5 दिनों के अंतराल के बाद जारी किए गए आंकड़ों को हटा दिया जाए। तो देश में सोमवार को 1293 इस केस दर्ज किए गए हैं, समय बद्ध तरीके से आंकड़े न भेजे जाने को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है, रोजाना और सावधानी पूर्वक कोरोना वायरस के आंकड़े भेजा जाना बेहद जरूरी है। यें आगे की तैयारियों के लिए हमे सचेत करता है, जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर किसी भी तरह की विसंगति से बचने के लिए सही आंकड़ों का सही समय पर होना बेहद जरूरी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रधान सचिव डॉक्टर रंजन नें राज्यों को पत्र जारी करते हुए लिखा है, कि कोरोनावायरस एक बेहद ही संक्रामक बीमारी है। और इस पर सही ढंग से निगरानी रखना बेहद जरूरी है सही निगरानी के सहारे ही जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर महामारी से निपटने के लिए राजनीति और योजनाएं बनाने में मदद मिलेगी। और सही निगरानी के लिए सभी राज्यों को समय पर कोरोना महामारी से संबंधित डेटा भेजना चाहिए बता दें कि केरल नें 13 अप्रैल से लेकर 17 अप्रैल तक का कोविड संक्रमण का आंकड़ा केंद्र सरकार को नहीं भेजा है। जिसके बाद केंद्र सरकार ने कई राज्यों समेत केरल सरकार को भी एक पत्र भेजा।

केरल सरकार ने केंद्र सरकार से छुपाए ताजा आंकड़े जानिए क्या है सच्चाई?

केरल सरकार को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि 13 अप्रैल को भेजे गए आंकड़ों के अनुसार राज्य में 298 नए मामले सामने आए थे। इसके बाद अगला डाटा 18 अप्रैल को भेजा गया जिसमें 1 दिन में नए मामलों की संख्या 940 बताई गई है, इस गैफ के चलते कोरोना को लेकर किए जाने वाले रिपोर्टिंग तंत्र में लापरवाही देखने को मिली है। इसी वजह से केंद्र की ओर से राज्यों को सही समय पर कोरोना से संबंधित डाटा भेजने के लिए कहां गया है, ताकि कोविड निगरानी को प्रभावी रूप से संचालित किया जा सके।