Solar Storm: आज धरती से टकराएगा Solar Storm, दुनियाभर में BlackOut |

सौर तूफान को लेकर एक बड़ी चेतावनी जारी की गई है पृथ्वी पर एक बड़ा खतरा मंडरा रहा है कहा जा रहा है कि आज सोलर स्टॉर्म पृथ्वी से टकराएगा। जिससे पूरी दुनिया में अंधेरा छा जाएगा और भी क्या-क्या इससें नुकसान होंगे जानिए इस खास खबर में।

आज पृथ्वी से टकराएगा सोलर स्टॉर्म, क्या छा जाएगा दुनिया भर में अंधेरा तमाम सिस्टम पड़ सकते हैं टप

कुछ सालों से पूरी दुनिया पर कुछ ना कुछ आपदा आती ही जा रही है. कभी कोरोना तों कभी उसका नया वायरस तो अब मंकीपॉक्स लेकिन आज हम आपको एक और खतरे के बारे में बताएंगे जिससे पूरी दुनिया में ब्लैक आउट हो सकता है यानी कि अंधेरा छा सकता है। आपको बताते हैं कि आखिर वैज्ञानिकों की ओर से ऐसा क्यों कहा जा रहा है वैज्ञानिकों और अंतरिक्ष शोधकर्ता हमेशा से ही सौरमंडल पर खोज करते आए हैं। वही सौर तूफान ने हमेशा ही अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की चिंता बढ़ाई है अब जो खबर आ रही है वह आपको थोड़ा परेशान कर सकती है क्योंकि सौर तूफान को लेकर अब एक और नई चेतावनी जारी की गई है। इसके मुताबिक अगर देखा जाए तो पृथ्वी पर एक बड़ा खतरा मंडरा रहा है धरती वासियों के लिए आज थोड़ी परेशानी खड़ी हो सकती है। क्योंकि आज यानी कि 3 अगस्त को पृथ्वी के सौर तूफान से टकराने की आशंका जताई जा रही है।

आज दुनिया पर मंडरा रहा है खतरा पृथ्वी सें आज टकरा सकता है स्टॉर्म

सूर्य के वायुमंडल में एक छेद से तेज गति वाली सौर हवाए आज पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र से टकरा सकती हैं। बताया जा रहा है कि सौर तूफान सूरत से टकराने से तो बच गया है लेकिन अब यह तेजी से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है। अगर यह सौर तूफान पृथ्वी से टकराता है तो इससे पूरी दुनिया में ब्लैक आउट हो सकता है। सूर्य के वायुमंडल में एक छेद है जो गैसीय पदार्थों को छोड़ रहा है और जब यह सौर हवाओं की ओर आने वाली धारा के साथ कंबाइन होगा तो इसके परिणाम स्वरूप एक मामूली जीवन श्रेणी का सौर तूफान आने की संभावना है। इससे केवल ब्लैक आउट होने का ही खतरा नहीं बल्कि इस घटना से कई और प्रकार की परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है। अब इसे लेकर चेतावनी जारी की गई है जिसमें कहा गया है कि अगर ऐसा होता है तो दुनिया भर के रेडियो सिग्नल में मुश्किल आ सकती है जिससे रेडियो में संचालन में दिक्कत आ सकती है। इसके साथ-साथ इसका प्रभाव जीपीएस का प्रयोग करने पर भी पड़ सकता है। कहा तो यह भी जा रहा है कि इसका सबसे अधिक और बुरा प्रभाव मोबाइल फोन के सिग्नल पर पड़ सकता है जिसके कारण दुनिया भर में मोबाइल नेटवर्क सिस्टम ठप हो सकता है। इसी तरह की तमाम मुसीबतों की संभावनाओं को देखते हुए इस तूफान को लेकर ज्यादा चिंता जताई जा रही है।

क्या है सौर तूफान आइए जानते हैं

आपको बता दें कि सौर तूफान आखिर होता क्या है इसको ज्योमैग्नेटिक स्टॉर्म और सोलर स्टॉर्म भी कहा जाता है। यह सूरज से निकलने वाला एक प्रकार का रेडिएशन होता है इसकी वजह से मैग्नेटिक रेडिएशन और गर्मी बढ़ जाती है। जिससे पृथ्वी तक पहुंचने में 15 से 18 घंटे का टाइम लगता है यह सौर तूफान तब आता है जब सूरज अपने लगभग 11 साल लंबे सौर चक्र के सबसे सक्रिय चरण में एंट्री करता है। तो वही अब देखना होगा कि आखिर जब यह स्टॉर्म टकराएगा तो क्या होता है।