Russia-Ukraine War: अमेरिकी गुप्तचर सेवा CIA को चाहिए जासूस |

0
152

जासूसी डार्क नेट में हो रही है नए जासूसों की भर्ती ! अमेरिकी गुप्तचर सेवा CIA यानी (केन्द्रीय गुप्तचर संस्था) नें हाल ही में सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रुसी नागरिकों से उन्हें कांटेक्ट करने की अपील की। ताकि ऐसे रूसियों की भर्ती कर सकें जों रूस के यूक्रेन में युद्ध छेड़ने के खिलाफ हों। रूसी गुप्तचर डार्क नेट पर CIA को संपर्क कर सकते हैं लेकिन डार्क नेट क्यों? क्या यें वाकई सेफ है? CIA नें विस्तार से बताया है कि रूस के अंदर से कोई भी सुरक्षित तरीके से उनसे कैसे संपर्क कर सकता है। ऐसे निर्देश एजेंसी ने अपने फेसबुक पेज, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर डाले लेकिन फेसबुक पर इंस्टा के रूस में ब्लॉक होने के कारण CIA केवल उम्मीद ही कर सकता है कि प्रवासी रूसी नागरिक उनका संदेश रूस के अंदर लोगों तक पहुंचा देंगे। शायद CIA को पता चला हों कि कई परेशान रूसी लोग उनसे संपर्क करना चाह रहे हैं लेकिन किसी भी हाल में सीआईए के लिए स्थानीय लोगों से सूचना हासिल कर पाना बहुत अहम है। खबरें जो भी हो उससे काफी जोखिम उठाना पड़ता है. पकड़े जाने की सजा बहुत कड़ी होगी इसलिए किसी आम चयन का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता यही होती है डार्क नेट की एंट्री जहां पहचान गुप्त रखी जा सकती हैं कई लोग गुप्त रहते हुए यहां ड्रग्स, हथियार और चाइल्ड पोर्न तक बेचते हैं। वही किसी जरूरी सूचना को बाहर निकालने वाले विसलब्लोअर्स और पत्रकारों के लिए यह एक सेफ स्पेस है।

CIA क्या है अमेरिका क्यों करता है इसका इस्तेमाल ?

डार्क नेट एक्सेस कर सकते हैं TOL ब्राउज़र से TOL यूजर्स की पहचान इंक्रिप्शन के कई पदों के पीछे छुपी होती है। कोई भी ड़ेटा कई थर्ड पार्टी रिले पॉइंट से भेजा जाता है ताकि यूजर्स का आईपी ऐड्रेस छुपा रहें इसका नाम THE ONION ROUTER पर पड़ा है। CIA डार्क नेट का इस्तेमाल 2019 सें करता आया है. देखए यह होता कैसा है? पहले दो ब्राउज़र इस्तेमाल करना होगा जिसके लिए CIA एक-एक कदम सावधानी से लेने का निर्देश देता है। फिर डालना है एड्रेस और और यहां से जुड़ेगा सीआईए से आपका तार। फिलहाल CIA यह अपील रूसी नागरिकों से कर रहा है लेकिन सच यह है कि इस तरीके का इस्तेमाल कर कोई भी दुनिया में कहीं से भी अमेरिकी गुप्तचर एजेंसी तक कोई भी बात पहुंचा सकता है। क्या यह वाकई इतना सुरक्षित है? क्या रूसी हैकर्स इसमें अड़ंगा नहीं लगा सकते। रूसी एक्सप्रेस के पास में विकल्प नहीं है वें वैसे ही काम करता है जैसे दुनिया भर में विसलब्लोअर्स करते हैं। यहां कुछ 100 कोड़ विसलब्लोअर्स होते है. उनकी सुरक्षा को आगे गोल्ड स्टैंडर्ड मान सकते हैं।

TOL ऐप कों कैसे कर सकते है डाउनलोड और इसमें कितना है खतरा !

मुद्दा यह है कि इस समय रूस में TOL डाउनलोड करना आसान नहीं रहा निगरानी तो नहीं हो रही है लेकिन आधिकारिक सर्वस सें TOL डाउनलोड किया जा सकता था इस समय वह रूस में ब्लॉक है। इसलिए आपको डाउनलोड के दूसरे तरीके खोजने होंगे, सोशल मीडिया अब भी चल रहा है. उसके जरिए TOL अपनी वह सुविधा मुहैया करवा रहा है। रूसी प्रशासन को पता तो चल सकता है लेकिन अब तक ऐसा कुछ सामने नहीं आया है जिसमें किसी खास सर्च आइटम या ऐसी पोस्ट देखने वालों को किसी तरह की परेशानी हुई हों। डार्क नेट में पहचान को गुप्त रख पाना एक और अपराधिक मानसिकता वालों दूसरी तरफ पॉलीटिकल एक्टिविस्ट दोनों को सुरक्षा देता है। कहीं दूसरी इंसानी खोजो की तरह यह भी एक दो धारी तलवार है। आप डार्क नेट को कितना सुरक्षित मानते हैं? खास तौर पर किसी विदेशी सीक्रेट सर्विस कों अपने देश के राज बताने के लिए।