वैक्सीन पर राजनीति कब तक ? ख़त्म करो आरोपों का खेल, वैक्सीनेशन प्लान हो रहा है फेल।

देश में टीकाकरण अभियान का कार्यक्रम चल रहा है मगर बहुत से राज्यों ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया की उनको वैक्सीन की डोज जरूरत के हिसाब से नहीं दी जा रही है। जब से देश में 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र वालो को वैक्सीन लगाने का एलान हुआ तबसे राज्यों में वैक्सीन कि कमी की खबरे आने शुरू हो गयी थी। यूपी, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र ,दिल्ली, बिहार इन सभी राज्यों ने वैक्सीन कि कमी कीबात कही थी। आरोप – प्रत्यारोप की राजनीति में सभी पार्टिया एक दूसरे पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है।
विपक्षी पार्टियों द्वारा लगाए गए आरोप पर भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने पलटवार करते हुए जवाब दिया की देश का विपक्ष वैक्सीन को लेकर लोगो में भ्रम फैलाने का काम कर रहा है।

राहुल गांधी और अरविन्द केजरीवाल वैक्सीन पर झूठे आरोप लगा रहे है। विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया था की जब देश में पर्याप्त वैक्सीन नहीं था तो दूसरे देशो को क्यों भेजा गया। इसपर जवाब देते हुए संबित पात्रा ने कहा 14 % वैक्सीन यूनाइटेड किंगडम को और बाकी सभी देशों को लाइसेंस के तहत ही वैक्सीन भेजा गया है। अब तक 6.68 करोड़ वैक्सीन की डोज अन्य देशो को भेजी गयी है जिनमें 1.07 करोड़ डोज मदद के तौर पर दिया गया है। 78.5 लाख टीके सात पडोसी को सीमा सुरक्षित करने के उद्देश्य से भेजा गया था। यूनाइटेड नेशन को 2 लाख डोज भेजे गए है।

वही दूसरी तरफ बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी को पत्रलिखते हुए शिकायत की और लिखा इस महामारी के दौर में आपकी पार्टी के द्वारा किये जा रहे व्यवहार से दुखी हूँ,लेकिन हैरान नहीं हूँ क्योकि आपकी पार्टी के कुछ नेता लोगो की मदद करने में लगे हुए है। जिस समय पूरा देश महामारी से लड़ रहा है उस समय कांग्रेस के नेता लोगो को गुमराह करने में लगे हुए है, जिससे लोगो के बीच में खौफ पैदा हो रहा है इसलिए कोंग्रेसी नेता लोगो को गुमराह करने की रणनीति छोड़ दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *