राहुल गाँधी का बीजेपी पर बड़ा प्रहार ,कहा – रेत में सर डालना सकारत्मक नहीं , देशवाशियों के साथ धोखा हैं।

0
126

देश में जबसे कोरोना के मामले बढ़ने शुरू हुए है तबसे देश की विपक्षी पार्टिया सत्ता पक्ष यानी मोदी सरकार पर लगातार हमलावर रही है। आय दिन कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार पर सवाल खड़े करती रहती है। इसीबीच में राहुल गाँधी ने बीजेपी पर बड़ा हमला किया है। मोदी सरकार पर जोरदार प्रहार करते हुए राहुल गाँधी ने ट्वीट करते हुआ लिखा की – सकारात्मक सोच की झूठी तसल्ली स्वास्थ्य कर्मचारियों व उन परिवारों के साथ मजाक है जिन्होंने अपनों को खोया है और ऑक्सीजन – अस्पताल -दवा की कमी झेल रहे हैं। रेत में सर डालना सकारत्मक नहीं , देशवाशियों के साथ धोखा हैं।
पुरे कोरोना काल के दौरान राहुल गाँधी मोदी सरकार पर हमला करते रहे हैं। सोमवार को राहुल गाँधी ने मोदी सरकार पर सेंट्रल विस्टा परियोजना पर निशाना साधा था। राहुल गाँधी ने सीधे तौर पर पीएम मोदी पर हमला करते हुए बोलै की उनको उस गुलाबी चश्मे को अब उतार देना चाहिए जिससे सेंट्रल विस्टा परियोजना के आलावा उनको कुछ नहीं दिखता हैं। उन्होंने नदियों में बहते लाशों और अस्पताल में लगी लम्बी लाइनों पर भी पीएम मोदी पर सवाल खड़े किये।
लोगो से राहुल गाँधी ने अपील की हैं की वे लोग इस महामारी के मुश्किल समय में एक दूसरे की मदद करते रहे। हमारी पार्टी ने प्रदेश इकाइयों पर कंट्रोल रम बनाये हैं और लोगो की मदद कर रहे हैं। भारतीय युवा कांग्रेस फ़ोन और सोशल मीडिया की सहायता से लोगो की मदद करने में जुटी हुई हैं।

राहुल गाँधी ने अपना ट्वीट करते समय एक लिंक भी शेयर की उस लिंक में खबर लिखी थी की देश में सकारात्मक माहौल बनाने के लिए मोदी सरकार नेगेटिव रिपोर्ट के आकड़े ज्यादा दिखाएगी।
कुछ दिन पहले ने भी WHO ने भी मोदी सरकार के दिया जा रह आकड़े पर सवाल खड़े किये थे और कहा था की भारत को सही आकड़े दिखाना चाहिए।