एक और छोटी सी चूक, भारत पर पड़ सकती है बहुत भारी। AIIMS के निर्देशक ने दी चेतावनी।

भारत इस समय कोरोना की वजह से बुरे दौर में है। हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। एक – एक सांस के लिए लोग तडप रहे है। लोग जिंदगी की जंग पल- पल लड़ते हुए दम तोड़ रहे है। जबसे देश में कोरोना की दूसरी लहर आई है तबसे पुरे देश में ऑक्सीजन , ICU बेड्स और दवाइयों की भरी मात्रा में किल्लत है। समय से ऑक्सीजन , दवाइयों की उपलब्धता न होंने के कारण बहुत से लोगो ने जान गवाई है।
ऐसे में दिल्ली AIIMS के निर्देशक रणदीप गुलेरिया ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने बताया अगर देश अब थोड़ी सी भी गलती करता है तो उसको तीसरी लहर का प्रकोप झेलना पड़ सकता है। डॉक्टर गुलेरिया ने एक हिंदी समाचार पत्र से बातचीत करते समय बताया की अगर देश अब एक भी छोटी गलती करता है तो तो तीसरी लहर आनी तय है और इसके परिणाम और भी बुरे हो सकते है। इस तीसरी लहर में सबसे ज्यादा खतरा बच्चों के लिए हो सकत है। भारत में इस तीसरी लहर से बच्चों पर ज्यादा प्रभाव न हो इसके लिए हम वैक्सीन का ट्रायल्स अब बच्चों में भी शुरू कर दिए है।12 साल तक के बच्चों को टिका लग सकता है या नहीं इसके ऊपर हमने परीक्षण किया है और इसका डाटा जल्द हमारे सामने आ जाएगा। उन्होंने बताया की पहली लहर बुजुर्गो के लिए खरनाक थी जबकि दूसरी लहर युवाओं को सबसे जयादा प्रभावित किया है ऐसे में अनुमान है की तीसरी लहर बच्चो को प्रभावित करेगी। अब जितनी जल्दी हो सके बच्चो के ऊपर ट्रायल्स समाप्त हो और बच्चो को टिका लगाया जाए ताकि काम से काम बच्चे इस तीसरी लहर से प्रभावित हो।
डॉक्टर गुलेरिया ने बतया की आने वाले चार से छह हफ्ते देश के बड़े अहम् होने वाले है। जिस हिसाब से आकड़े आ रहे है उससे अनुमान है की देश के लिएअगले चार से छह हफ्ते काफी अहम् होने वाले है और इसके बाद देश को राहत मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा लोग जितनी सावधनी बरतेंगे उतना ही जल्दी कोरोना के मामले काम होंगे। लोगो को जितना हो सकता है उतना घरों में रहें और अतिआवश्यक काम हो तो मास्क पहन कर ही निकालें।

हम भी उम्मीद करते है हमारा देश बहुत जल्द इस कोरोना की महामारी से उबरेगा। देश के लोगो को भी अपनी जिम्मेदारी समझने की जरूरत है और लापरवाही कम करेंगे तो अपना देश इस जंग को बहुत जल्द जीत जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *