किसान आंदोलन के आड़ में हो रहे घिनौना काम का पूरा सच।

0
107

इस देश में अगर किसी को अपनी बात मनवानी होती है तो लोगो को सबसे आसान तरीका लगता है धरना दे देना। चाहे वो CAA का आंदोलन हो या किसान आंदोलन। लोकतंत्र में ये सब होना भी चाहिए , लोगो को अपनी आवाज उठाने की पूरी आजादी होनी चाहिए मगर उस आजादी के वजह से किसी को कोई तकलीफ न हो।

हम एक ऐसे खबर की बात कर जो किसान आंदोलन पर अब सवाल खड़ा कर रहा है। किसान आंदोलन के आड़ में हो रहे घिनौना काम का सच अब सामने आ रहा है। 11 अप्रैल को बंगाल से एक युवती कृषि कानून के खिलाफ चल रहे आंदोलन में अपनी हिस्सेदारी देने आयी थी और टिकरी बॉर्डर पर किसान शोसल आर्मी कैंट में रुकी। युवती कृषि कानून को गलत मानती थी इसलिए किसानो के समर्थन में टिकरी बॉर्डर पहुंची थी जहा उसके पिता भी किसान में शामिल थे। लेकिन उस युवती की बीते 30 अप्रैल को उसकी मृत्यु हो गयी थी। लेकिन अब उस युवती की मौत का सच सामने आ रहा है। उसके पिता ने अब कुछ लोगो के ऊपर अपनी बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है। जब ये मामला दर्ज हुआ तब उस युवती के मौत का सच सामने आने लगा। अब कहर आ रही की उस युवती के साथ हुए दुष्कर्म के बारे में संयक्त किसान मोर्चा को बीते 2 मई को लग गया था लेकिन उन्होंने सच को छुपाया और पुलिस कार्यवाई करने वजाय किसान नेता आपसी बैठक करते रहे। जब युवती के पिता ने खुद सामने अगर कर पुलिस में मामला दर्ज कराया तो संयुक्त किसान मोर्चा अपनी किरकिरी करानेसे बचने के लिए बयान देते है की हम युवती के पिता के साथ है और उस युवती को न्याय दिलाने में उनका सहयोग करेंगे।
युवती के पिता ने बताया की उनकी बेटी से फोन पर कई बार होती थी मगर ऐस अलगता था की उनकी बेटी किसी के दबाव में बात कर रही है। बाद में पता चला की अनूप और अनिल मेरी बेटी को ब्लैकमेल करते थ। 29 अप्रैल को जब मई बेटी से मिलने अस्पताल पंहुचा तब बेटी ने मुझे पूरा सच बताया और कहा की अनूप और अनिल के उसके साथ गलत काम किये है। और बेटी ने अपनी आखरी बात में कहा की बाबा मुझे इन्साफ जरूर दिलाना ताकि किसी और के साथ ऐसा न हो।
युवती के पिता ने बताया की मैंने अनूप और अनिल के ऊपर मुकदमा दर्ज करा दिया है। लेकिन पुलिस ने छह लोगो को आरोपी बनाया जिसमे दो युवतिया है लेकिन मैंने दुबारा पुलिस को लिखित में पुलिस को बताया की वो सिर्फ अनूप और अनिल के खिलाफ कार्यवाही चाहते है और दोनों युवतिया निर्दोष है बल्कि वो तो मेरी इस मामले में मदद भी कर रही है।