WHO ने भारत सरकार के दिखाए कोरोना के आकड़े पर उठाये सवाल , कहा सरकार को सही आकड़ा दिखाना चाहिए।

देश में कोरोना की दूसरी लहर के चलते हर तरफ से बुरी खबरें आ रही है। भारत में इस लहर के आने बाद जो आकड़े जिस हिसाब से आ रहे है वो बेहद चिंताजनक है। इसी बीच विश्व स्वास्थ संघठन ने भारत में बढ़ते मामले पर चिंता व्यत्क की है और कहा की भारत की इस्तिथि बेहद चिंताजनक है और जिस तरह के आकड़े सामने आए रहे है उसके हिसाब से भारत इस समय बुरे समय से गुजर रहा है। ऐसे में WHO ने कहा सरकार को सही आकड़े दिखने चाहिए। WHO की प्रमुख वैज्ञानिक सौम्य स्वामीनाथन ने भारत की इस्तिथि पर चिंता विकट की है और सरकार द्वारा दिखाए आकड़े पर सवाल खड़े किये है।
पिछले साल भारत में पाए गए भारतीय वेरिएंट को WHO ने पूरी दुनिया के लिए खतरा बताया था और शुरूआती अध्यन के अनुसार बताया था की ये बड़ी तेजी से फैलता है। और इसको WHO ने कोविद के भारतीय वेरिएंट ( बी -1617 )को विश्व के लिए चिंताजनक की श्रेणी में रखा है। कोविद -19 पर अध्यन करनई वाली टीम की एक डॉक्टर मारिया वैन केरखोव ने बताया की भारत में पाए गए नए वेरिएंट को हमने निगरानी स्वरुप की श्रेणी में रखा था और वायरस के अलग अलग स्वरूपों पर WHO के अलग अलग दलोंके साथ चर्चा हुई और संक्रमण पर हो रहे अध्ययन के
बारे में जानकारियां अन्य देशो से ली। आगे मारिया ने बताया की भारतीय स्वरुप के ऊपर हुए अध्ययन के बाद उपलब्ध जानकारी के अनुसार और उसकी फैलने की क्षमता पर चर्चा करने के बाद हमने इसको वैश्विक स्तर पर चिंताजनक स्वरुप की श्रेणी में रखने का फैसला किया है।

भारत सरकार के द्वारा दिखाए आकड़े पर सिर्फ WHO ही नहीं देश की विपक्षी पार्टियों ने भी सवाल खड़े किये है। अब देखना ये होगा की सरकार इस WHO की दिए बयान पर अपना क्या रुख रखती है और क्या बयान देती है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *