FIR on Asaduddin Owaisi: असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ Delhi Police ने दर्ज की FIR, Hate Speech का मामला

अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले असदुद्दीन ओवैसी मुश्किल में फंस सकते हैं? दरअसल दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया पर हीड स्पीच और अभद्र भाषा का हवाला देते हुए FIR दर्ज की है। जिसमें एक FIR असदुद्दीन ओवैसी कें खिलाफ भी है, FIR दर्ज हुई तों AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भड़क गए! ओवैसी ने कहा कि मुझे f.i.r. का अंश मिला है। यह मेरी देखी हुई पहली प्राथमिकी है. जों यह स्पष्ट नहीं कर रही है कि अपराध क्या है। हम इससे भयभीत नहीं होंगे, जहां तक मेरे खिलाफ f.i.r. की बात है हम अपने वकीलों की सलाह लेंगे और जरूरत पड़ने पर इसका समाधान करेंगे। अभद्र भाषा की आलोचना करने और अभद्र भाषा का प्रयोग करने की तुलना नहीं की जा सकती। आपको बता दें असदुद्दीन ओवैसी पर एफ आई आर दर्ज होने की पुष्टि दिल्ली पुलिस की पीआरओ सुमन नलवा ने भी की है।

FIR दर्ज होने पर क्या बोले असदुद्दीन ओवैसी ?

एफ आई आर दर्ज होने के बाद सोशल मीडिया पर असदुद्दीन ओवैसी ने एक के बाद एक 5 ट्वीट किये। ओवैसी ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि दिल्ली पुलिस ने नूपुर शर्मा, नवीन जिंदल के खिलाफ मामले को आगे बढ़ाने का साहस नहीं है यही वजह है कि मामले में देरी और कमजोर प्रक्रिया जारी है। वास्तव में यति नें मुसलमानों के खिलाफ नरसंहार को बढ़ावा देने और इस्लाम का अपमान करके अपनी जमानत कें शर्तों का बार-बार उल्लंघन किया है। ओवैसी के मुताबिक दिल्ली पुलिस शायद हिंदुत्ववादी लोगों को ठेस पहुंचाए बिना इन लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करने का तरीका सोचने की कोशिश कर रही थी। दिल्ली पुलिस दोनों पक्षवाद यह संतुलन वाद सिंन्द्रोस से पीड़ित है यह सभी आरोप असदुद्दीन ओवैसी ने लगाएं है। एक पक्ष ने खुले तौर पर हमारे पैगंबर का अपमान किया है जबकि दूसरे पक्ष का नाम बीजेपी समर्थकों को समझाने और ऐसा दिखाने के लिए दिया गया है कि दोनों पक्षों में अभद्र भाषा थी। आपको बता दें भड़काऊ बयान को लेकर दिल्ली पुलिस की तरफ से दर्ज की गई दो एफ आई आर में AIMIM का प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी समेत 32 लोगों के नाम कामिल है।