Rajya Sabha Elections 2022: 16 सीटों पर चुनाव का क्या है गणित? |

राज्यसभा चुनाव को लेकर गहमा-गहमी का दौर जारी है आज शाम तक तस्वीर भी साफ हो जाएगी। 57 सीटों के लिए शुरू हुए चुनाव में अब सिर्फ 16 सीटों पर रण बचा है. 41 सदस्य निर्विरोध चुने जा चुके है। बता दे राज्यसभा चुनावों के लिए 15 राज्यों में कुल 57 सीटों पर चुनाव होने थे लेकिन आते-आते आज सिर्फ 16 सीटों पर चुनाव है आज जिन राज्यों के लिए राज्यसभा सीटों पर चुनाव होना है उनमें महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाणा और कर्नाटक शामिल हैं। पार्टियों को हॉर्स ट्रेडिंग और क्रॉस वोटिंग का डर सता रहा है. उम्मीदवार जोड़-तोड़ की राजनीत में जुट हैं। तो पार्टियों ने अपने विधायकों को रिसॉर्ट में छुपा दिया है. विधायक इधर-उधर ना हो इसके लिए कड़ी पहरेदारी भी हो रही है। आपको बता दें गुणा-गणित के हिसाब से जितने आसानी से जीत सकते थे वों सभी जीत चुके हैं। आप सिर्फ जोड़-तोड़ दी दांवपेच वालें उम्मीदवार बचे हैं जिसको लेकर सभी पार्टियों ने पूरी ताकत झोंक दी है आज इस तस्वीर से धुंध भी हट जाएगी।

41 सीटों पर निर्विरोध कौन और कहां से जीते हैं उम्मीदवार !

वहीं अगर बात करें जीते हुए उम्मीदवारों की तो किसको कहां से मिली है जीत! इस को समझाते हैं।

01. तमिलनाडु में डीएमके से एस कल्याणसुंदरम, आर गिरिराजन और केआरएन राजेश कुमार जीते हैं। वही AIADMK कें सी वी शणमुगम और आर घरमार व कांग्रेस नेता पी चिदंबरम राज्यसभा पहुंचे हैं।

02. वही बिहार से RJD से मीसा भारती, फैयाज अहमद, BJP कें सतीश चंद्र दुबे और शंभू शरण पटेल, जदयू से खीरू महतो यें लोग राज्यसभा पहुंचे हैं।

03. आंध्र प्रदेश की बात करें आंध्र प्रदेश से YSR कांग्रेस के वी विजय साई रेड्डी, बीड़ा मस्तान राव, और कृष्णया और एस निरंजन रेड्डी राज्यसभा पहुंचे हैं।

04. पंजाब से AAP नेता संत बलबीर सिंह सीचवाल और कारोबारी बिक्रमजीत सिंह साहनी राज्यसभा पहुंचे है।

05. छत्तीसगढ़ से कांग्रेश के राजीव शुक्ला और रंजीत रंजन राज्यसभा में बैठे दिखाई देंगे।

06. झारखंड से JMM से महुआ माजी और BJP से आदित्य साहू राज्यसभा पहुंचे है।

07. उत्तराखंड की बात करें तो सिर्फ एक कैंडिडेट उत्तराखंड से पहुंचे हैं BJP की कल्पना सैनी राज्यसभा में दिखाई देंगी।

08. मध्य प्रदेश: कांग्रेस से विजय तनखा, BJP की कविता पाटीदार और सुमित्रा बाल्मीकि राज्यसभा पहुंचे हैं। तो आपको बता दें राज्यसभा सांसद का कार्यकाल लेकिन हर 2 साल में एक तिहाई सीट खाली हो जाती है जिसको लेकर चुनाव कराए जाते हैं। इसी कड़ी में इस साल भी 57 सीटों पर चुनाव कराए जा रहे हैं इसमें से 41 निर्विरोध जीत चुके हैं। वही 16 सीटों पर आज चुनाव होने हैं।