Assembly election: Election Commission नें रोड शो रैलियों पर प्रतिबंध की सीमा बढ़ाई?

0
2

कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश (UP) समेत 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे है। जिसके लिए चुनाव आयोग नें गाइडलाइंस तय की है, चुनावी राज्यों में रोड शो और रैलियों पर लगी हुई है। इसी कड़ी में चुनाव आयोग नें रविवार को रोड शो और रैलियों पर लगे प्रतिबंधों की अवधि एक बार फिर से आगे बढ़ा दिया है, हालांकि जन सभाओं को लेकर प्रतिबंधों में कुछ छूट दे दी गई है। चुनाव आयोग के एक बयान में कहा गया है, कि खुले में सभाओं बंद में भवनों में सभाओं तथा रैलियों के संबंध में प्रतिबंधों में ढील दी गई है। लेकिन बंद सभाओं की 50 फीसदी क्षमता खुले मैदानों 30 फीसदी क्षमता के बराबर लोग ही इसमें शामिल हो सकेंगे। चुनाव आयोग के मुताबिक घर-घर जाकर प्रचार करने के लिए अधिकतम 20 लोगों की सीमा पहले की तरह लागू रहेगी।

चुनाव प्रचार को लेकर इलेक्शन कमिशन की नई गाइडलाइंस जारी?

वही रात 8:00 बजे से सुबह 8:00 बजे के बीच प्रचार पर भी रूम पहले की तरह जारी रहेगा, चुनाव आयोग ने कहा ओपन ग्राउंड रैलियां केवल जिला अधिकारी द्वारा विशेष रूप से नामित मैदानों में आयोजित की जा सकती है। और एसडीएम की सभी शर्तों के अनुपालन के अधीन है, इन मैदानों का आवंटन जिला प्रशासन द्वारा ही सुविधा पोर्टल के माध्यम से पहले आओ पहले पाओ के आधार पर सामान्य रूप से दिया जाएगा। मैदानों की क्षमता जिला प्रशासन की ओर से काफी पहले समय से तय की जाएगी,और सभी पक्षों को इसकी सूचना दी जाएगी। बता दे उत्तर प्रदेश के अलावा पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में अलग-अलग चरणों विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, जिसकी शुरुआत 10 फरवरी से होने जा रही है। 10 मार्च को सभी राज्यों के चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे।