धारा 370 पर एक बार फिर छलका दिग्विजय सिंह का दर्द, कहा धारा 370 हटाना अत्यंत दुखद निर्णय।

0
41
धारा 370

क्लब हाउस चैट से हुआ खुलासा

क्लब हाउस चैट में किए गए एक बातचीत का ऑडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल किया जा रहा है। इस वीडियो में कांग्रेस के नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने जम्मू कश्मीर से हटाए गए धारा 370 के फैसले पर बात करते हुए सुनाई दे रहे हैं। दिग्विजय सिंह वायरल ऑडियो में बोलते हुए सुनाई दे रहे हैं कि यह धारा 370 हटाई गई तब लोकतांत्रिक मूल्यों का पालन नहीं किया गया।

यह भी पढ़े :मुंबई कि मानसून हादसे को दावत : मोहम्मद रफ़ी के परिवार के 9 लोगो की गयी जान।

विदेशी पत्रकारों से बताया अपना दर्द

दरअसल कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह देश और विदेश के तमाम पत्रकारों के साथ वर्चुअल बातचीत कर रहे थे। इस बातचीत के दौरान कांग्रेस महासचिव से शाहजेब जिल्लानी ने धारा 370 से जुड़ा एक सवाल पूछ लिया। पत्रकार शाहजेब जिल्लानी को कहा जा रहा है कि यह एक पाकिस्तानी पत्रकार हैं। शाहजेब जिल्लानी ने दिग्विजय सिंह से सवाल पूछा कि जब मौजूदा सरकार सत्ता से चली जाएगी और भारत को दूसरा प्रधानमंत्री मिल जाता है तो क्या कश्मीर को लेकर कोई रास्ता साफ होगा? उन्होंने कहा कि मुझे पता है कि अभी भारत में जो हो रहा है उसके कारण यह भी हाशिए पर है लेकिन यह एक ऐसा मुद्दा है जो दोनों देशों के बीच लंबे वक्त से चला आ रहा है।

यह भी पढ़े : श्रीलंका दौरे से पहले इंडिया का प्लान, गब्बर को सौंपी कमान

https://twitter.com/LeaksClubhouse/status/1403500930583044099?s=20

 

शाहजेब जिल्लानी कौन है ?

हम अगर टि्वटर के प्रोफाइल के अनुसार देखें तो शाहजेब जिल्लानी बीबीसी के पूर्व संवाददाता है और वह जर्मनी के रहने वाले। शाहजेब जिल्लानी पाकिस्तान , वाशिंगटन और लंदन में काम कर चुके हैं और इससे पहले वो डीडब्ल्यू न्यूज़ से भी जुड़े रहे हैं। शाहजेब जिल्लानी ने अपना परिचय दिग्विजय सिंह को देते हुए बताया है कि वह डीडब्ल्यू न्यूज़ के लिए काम करते हैं और पाकिस्तान के सिंध में उनका जन्म हुआ था।

धारा 370

यह भी पढ़े : मुकुल राय की घर वापसी, दोबारा पहुंचे ममता की शरण में।

शाहजेब जिल्लानी को दिग्विजय सिंह का जवाब

शाहजेब जिल्लानी के सवालों का जवाब देते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि मैं मानता हूं जो चीजें समाज के लिए खतरनाक हैं तो वह है धार्मिक कट्टरवाद। चाहे वह हिंदू हो मुस्लिम ईसाई सिख या किसी से भी जुड़ी हो धार्मिक कट्टरवाद हमेशा नफरत फैलाता है और इसके वजह से ही हिंसा होती है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि हर समाज और धार्मिक समूहों को यह बात समझनी होगी कि हर व्यक्ति को अपनी विश्वास और परंपरा के पालनो का पालन करने का पूर्ण अधिकार है किसी को भी अपनी आस्था भावनाएं या धार्मिक गतिविधियों को किसी दूसरे को ऊपर थोपने का अधिकार किसी को नहीं है।

यह भी पढ़े : राजस्थान सरकार ने पलक झपकते ही 30 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को एक झटके में किया बेरोजगार।

धारा 370 हटाना अत्यंत दुखद- दिग्विजय सिंह

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि मुस्लिम बहुल राज्य में एक हिंदू राजा था। दोनों ने मिल कर काम किया, कश्मीर में सरकारी सेवाओं में कश्मीरी पंडितों को आरक्षण दिया गया था। इसलिए मेरा मानना है कि धारा 370 को हटाना और जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा कम करना अत्यंत दुखद निर्णय है हमें निश्चित तौर पर इस मुद्दे पर विचार करना होगा। जैसी ही यह ऑडियो वायरल हुआ भाजपा के नेताओं और प्रवक्ताओं ने कांग्रेस के ऊपर जमकर निशाना साधना शुरू कर दिया है।

BJP का कांग्रेस पर हमला

भारतीय जनता पार्टी के तेजतर्रार प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह के क्लब हाउस स्टेटमेंट पर पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी क्या सोचते हैं? कांग्रेस भी यही स्टैंड रखती है? संबित पात्रा ने मांग करते हुए कहा कि राहुल गांधी को प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी चाहिए और इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि कांग्रेस का पहला प्यार तो पाकिस्तान है। दिग्विजय ने राहुल का संदेश पाकिस्तान तक पहुंचाया है कांग्रेस कश्मीर को हथियाने में पाकिस्तान की मदद करेगी।

यह भी पढ़े : हरियाणा बोर्ड ने जारी किया दसवीं का परीक्षा परिणाम, ना कोई टॉपर ना कोई हुआ फेल।