Lakhimpur Kheri Voilence : लखीमपुर से निकली चिंगारी लखनऊ तक पहुंची, कई दिग्गज नेताओं को पुलिस ने किया अरेस्ट तो कुछ हाउस अरेस्ट किये गए, अब तक 8 की मौत, पढ़े पूरी अपडेट।

कल लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा (Lakhimpur Kheri Voilence) का असर अब उत्तर प्रदेश की राजधानी तक पहुंच गया है। जो चिंगारी कल लखीमपुर खीरी से निकली थी वह चिंगारी अब प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आगजनी का रूप ले चुकी है। लखीमपुर में हुए किसानों की मौत (Lakhimpur Kheri Voilence) के बाद प्रियंका गांधी से लेकर अखिलेश यादव तक लखीमपुर खीरी जाने के लिए तैयार हो चुके है। प्रियंका गांधी कल रात में ही लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो चुकी थी लेकिन अखिलेश यादव आज सुबह अपने घर से लखीमपुर खीरी जाने के लिए घर से निकले थे।

यह भी पढ़े: Lakhimpur Kheri : बीजेपी नेता की गाडी ने आंदोलन कर रहे किसानों को कुचला, 2 की मौत 1 बुरी तरह से घायल, केशव प्रसाद का होना था कार्यकम।

Lakhimpur Kheri Voilence के घटनास्थल पर जाने के लिए निकले अखिलेश यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार

लखीमपुर जाने से पहले ही लखनऊ में पुलिस वालों ने उन्हें रोक लिया फिर अखिलेश यादव धरने पर बैठ गए। अखिलेश यादव ने धरने पर बैठने के बाद बयान देते हुए कहा कि अंग्रेजों के शासन में भी किसानों के ऊपर इतना जुल्म नहीं हुआ जितना भाजपा की सरकार कर रही है। किसानों के हत्या के पीछे जिनका नाम आ रहा है वह केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग अखिलेश यादव कर रहे हैं और मृतक किसानों को दो ₹2 करोड़ की आर्थिक सहायता और सरकारी नौकरी की भी मांग उन्होंने रखी है।

Lakhimpur Kheri Voilence

Lakhimpur Kheri Voilence को देखते हुए कई नेताओं को किया गया है हाउस अरेस्ट

जैसे ही अखिलेश यादव को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार किया कुछ अराजक तत्वों ने पुलिस की जीप में आग लगा दी। विपक्षी नेताओं को लखीमपुर खीरी पहुंचने से रोकने के लिए पुलिस प्रशासन ने हाउस अरेस्ट कर दिया है। इन नेताओं में बसपा के महासचिव सतीश मिश्रा, कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी, सलमान खुर्शीद, आराधना मिश्रा और शिवपाल यादव शामिल है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस पहले ही हिरासत में ले चुकी है।

Lakhimpur Kheri Voilence को लेकर देश के कई शहरों में किसानों में शुरू किया प्रदर्शन

लखीमपुर खीरी में हुए बवाल (Lakhimpur Kheri Voilence) को लेकर प्रदर्शन देश के कई अन्य शहरों में भी होने लगा है खबरों के मुताबिक किसानों की मौत को लेकर प्रदर्शन अंबाला और बेंगलुरु में भी शुरू हो गया है। आपको बता दें कल लखीमपुर खीरी में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्रा और अन्य 14 लोगों पर हत्या, आपराधिक साजिश और बलवे का केस दर्ज कर दिया गया है। आशीष मिश्र के ऊपर बहराइच के नानपारा के रहने वाले जगजीत सिंह की तहरीर पर तिकुनिया थाने में FIR लिखा गया है।

Lakhimpur Kheri Voilence में अबतक 8 लोगो की हुई है मौत

आपको बता दें रविवार को किसान आंदोलन के बीच हुई हिंसा में 8 लोगों की मौत तक हो चुकी है जिसमें एक पत्रकार का शव बरामद किया गया है। कथित तौर पर कहा जा रहा है कि बीजेपी नेता के बेटे ने प्रदर्शन कर रहे किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ा दी थी जिसके नीचे दब जाने से किसानों की मौत हो गई।

यह भी पढ़े: Shahrukh Khan’s son Aryan Khan को NCB ने क्रूज पर हो रहे ड्रग्स पार्टी के मामले में कर रही है पूछताछ, अन्य 8 लोग भी NCB के हिरासत में, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी, जाने और कौन कौन है शामिल।

मंत्री के बर्खास्त होने के बाद ही होगा अंतिम संस्कार – राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत खबर सुनते ही लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गए। राकेश टिकैत ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए और उनके बेटे को गिरफ्तार किया जाए। अगर ऐसा नहीं होता है तो मृतक किसानों के शव का अंतिम संस्कार तब तक नहीं किया जाएगा।

यह भी पढ़े: NEET UG 2021 : जाने UP में नीट के जरिये कैसे ले मेडिकल कॉलेजों में दाखिला, ये होगी प्रक्रिया, इन दस्तावेजों की होगी जरूरत।

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र ने घटना पर दिया बयान कहा उनका बीटा वहां नहीं था मौजूद

आपको बता दें घटनास्थल (Lakhimpur Kheri Voilence) पर अब किसानों का हुजूम लगने लगा है। किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दंगा नियंत्रण की तीन गाड़ियों को प्रशासन ने एहतियात के तौर पर मंगाया है। घटना होने के बाद रविवार को केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र ने कहा कि जिस वक्त घटना हुई उस वक्त घटनास्थल पर उनका बेटा मौजूद ही नहीं था। उन्होंने कहा कि किसानों के बीच में घुसे कुछ शरारती तत्वों ने बीजेपी के 3 कार्यकर्ता और उनके काफिले पर हमला किया और गाड़ी के ड्राइवर को पीट पीट कर मार डाला।

राकेश टिकैत ने सरकार से 5 मांग की है उन्होंने कहा कि –

1. इस हिंसा की न्यायिक जांच हो

2. मृतक परिवारों को एक-एक करोड़ का मुआवजा दिया जाए।

3. मृतक के परिवार के एक सदस्य को नौकरी

4. संसद के बेटे तथा अन्य 14 आरोपियों की गिरफ्तारी हो और

5. अजय मिश्र की बर्खास्तगी की जाए

लखीमपुर खीरी में तनाव (Lakhimpur Kheri Voilence) को देखते हुए मंगलवार तक के लिए पूरे जिले में इंटरनेट बंद करने का आदेश दिया गया है। सोमवार को घटनास्थल के 20 किलोमीटर एरिया में इंटरनेट बंद किया गया था और पूरे जिले में धारा 144 लागू कर दी गयी है।

यह भी पढ़े: PM Digital Health Mission: देशवाशियों को पीएम मोदी ने दिया बड़ा तोहफा, जाने ये डिजिटल हेल्थ कार्ड क्या है? इन आसान 8 स्टेप्स से बनाये अपना हेल्थ कार्ड।

4 thoughts on “Lakhimpur Kheri Voilence : लखीमपुर से निकली चिंगारी लखनऊ तक पहुंची, कई दिग्गज नेताओं को पुलिस ने किया अरेस्ट तो कुछ हाउस अरेस्ट किये गए, अब तक 8 की मौत, पढ़े पूरी अपडेट।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *