कश्मीर में सिख लड़कियों के धर्म परिवर्तन का सच क्या है ???

0
63
धर्म परिवर्तन का सच

धर्म परिवर्तन का सच: कश्मीर में सिख लड़कियों को जबरन मुस्लिम बनाकर शादी करने कथित मामला अमित शाह तक पहुंच गया है। कश्मीर में एक तरह का विवाद चल रहा है। और ये सिर्फ कश्मीर के लिए नहीं बाकी राज्यों के लिए भी है, वहां से भी ऐसे मामले आते रहते हैं। ये कथित लव जिहाद का विवाद है। ऐसे मामलों में कुछ तत्व होते हैं, कुछ मित होते हैं, और बहुत सारी राजनीति।

यह भी पढ़े : ट्विटर की मनमानी: भारत के नक्शे से ट्विटर ने की छेड़छाड़, जम्मू कश्मीर और लद्दाख को दिखाया अलग देश।

अभी कश्मीर में सिख समुदाय की लड़कियों की धर्म परिवर्तन और शादियों को लेकर बवाल मचा है। श्रीनगर में सिख समुदाय का विरोध प्रदर्शन चल रहा है। जम्मू कश्मीर के बाहर भी सिख, बोल रहे है, लिख रहे हैं। आज दिल्ली में भी जम्मू कश्मीर भवन के बाहर प्रदर्शन हुआ। दिल्ली सिख गुरद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के अध्यक्ष परविंदर सिंह सिरसा और सिख समुदाय के कई नेता श्रीगर में भी जाकर विरोध जता रहे है। धर्मांतरण के खिलाफ जम्मू-कश्मीर में एक क़ानून लाने की मांग हो रही है। 

धर्म परिवर्तन के दो मामले आये है सामने

ये पूरा झगड़ा शुरू हुआ दो सिख लड़कियों के कथित धर्मांतरण को लेकर। पहला मामला श्रीगर के मैहजूर नगर का है। सिख समुदाय की करीब 18 साल की लड़की के साथ 40 साल के मुस्लिम आदमी ने निकाह किया। वो आदमी पहले से ही शादी शुदा था। सिख समुदाय का आरोप है की जबरदस्ती धर्म, परिवर्तन कर निकाह कराया गया। इस मामले में बवाल मचा तो लड़की परिवार के साथ लौट आयी।

यह भी पढ़े : ट्रांसजेडर शिवलक्ष्मी कि प्रेम कहानी : ट्रांसजेडर शिवलक्ष्मी को सिर्फ प्यार ही नहीं बल्कि पूरा परिवार मिल गया !

लड़की के बयान के बाद कोर्ट ने दी मंजूरी

दूसरा मामला श्रीगर के रैनावड़ी का है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले सोमवार को 18 साल की लड़की को अगुवा किया गया परिवार वालो ने बताया की 60 साल के ज्यादा उम्र के शक्स ने हथियार के दमपर लड़की को अगुवा किया। पुलिस को शिकायत दी गयी। खोजने पर कश्मीर के चादुसा इलाके में मिली जिसका निकहा हो गया था। उसी शक्स के साथ जिसपर लड़की को अगुआ करने का आरोप लगा। ये मामला फिर हाईकोर्ट पहुंचा हाईकोर्ट में लड़की के बयान हुए। लड़की ने कह दिया मैंने अपनी मर्जी से शादी की है और वह अपने पति के साथ रहना चाहती है। हाईकोर्ट ने भी इसकी अनुमति दे दी।

तो इसमें विवाद क्या है?

परिवार वाले कह रहे हैं लड़की के दिमागी हालत ठीक नहीं है। दूसरा आरोप ये है लड़की के परिवार वाले को कोर्ट में दाखिल ही नहीं होने दिया। पुलिस वाले परिवार का सहयोग नहीं कर रहे थे। सिख समुदाय कह रहा है पहले जबरन धर्म परिवर्तन और निकाह के कई मामले आए हैं। इसलिए धर्म परिवर्तन के खिलाफ कश्मीर में नया कानून बनाना जरूरी है।

यह भी पढ़े : प्रेरणा के रूप में मैंने पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव कि ओर देखा था : आनंद महिंद्रा

इसी मांग के साथ दिल्ली सिख गुरद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के अध्यक्ष परविंदर सिंह सिरसा कल उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से मुलाक़ात की। आज सिरसा ने बताया कि उनकी ग्रहमंत्री अमित शाह से इस बारे में बात हुई। इस मामले पर आज पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती का बयान आया है । उन्होंने ट्विटर पर लिखा दो सीख लड़कियों के बारे में इन घटनाओं को सुनकर परेशान हूँ। मुस्लिम और सीख बुरे वक्त में भी साथ में हो कर रहे हैं। उम्मीद है जांच एजेंसी धर्म परिवर्तन का सच का पता लगाएंगे ।

यह भी पढ़े : उन्नाव के सांसद साक्षी महाराज हुए ठगी का शिकार, जालसाजों ने फर्जी चेक लगाकर खाते से उड़ाए ₹97,500।