मुकुल राय की घर वापसी, दोबारा पहुंचे ममता की शरण में।

0
231
मुकुल राय

मुकुल राय फिर TMC के हुए

देश के कुछ राज्यों में लगातार चुनावी उठापटक देखने को मिल रहा है। हम देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की बात करें, राजस्थान, महाराष्ट्र या फिर वेस्ट बंगाल हो। इन सभी राज्य में पिछले कुछ दिनों से सियासी हलचल देखने को मिल रही है। इसी बीच पश्चिम बंगाल से खबर आ रही है कि भाजपा के बड़े नेता मुकुल राय दोबारा टीएमसी में लौटने वाले हैं।

यह भी पढ़े :कोरोना को लेकर हुआ नया खुलासा, चीन वुहान लैब से ही निकला है कोरोना।

मुकुल राय अपने बेटे शुभ्रांशु के साथ टीएमसी कार्यालय पहुंचे और ममता बनर्जी से मुलाकात की। मुकुल राय और उनके बेटे ने दोपहर 3:30 बजे तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता हासिल की। इस बीच देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी के भी टीएमसी में शामिल होने की खबरें आ रही हैं। हम आपको बता दें जब टीएमसी से भाजपा में जाने वाले नेताओं की लंबी कतार लगी थी उस कतार में सबसे पहले मुकुल राय शामिल थे।

यह भी पढ़े : चीन से बड़ी खबर : मैराथन में 21 लोगों की गयी जान, खराब मौसम बना वजह।

मुकुल राय ममता बनर्जी के बेहद करीबी और खास माने जाते थे। मुकुल राय को पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते टीएमसी ने उनको बाहर कर दिया गया था। खबर के अनुसार भाजपा में ऐसे कई सारे नेता है जो अब दुबारा टीएमसी में लौटने की तैयारी में जुटे हैं। सूत्रों के अनुसार पश्चिम बंगाल भाजपा में शुभेंदु अधिकारी को जिस तरह का कद मिला उस हिसाब से मुकुल राय को कद नहीं मिल पाया था। इसी के चलते मुकुल राय ने दुबारा पुरानी पार्टी में लौटने का मन बना लिया है।

यह भी पढ़े : मुंबई कि मानसून हादसे को दावत : मोहम्मद रफ़ी के परिवार के 9 लोगो की गयी जान।

हार्ड लाइनर और सॉफ्ट लाइनर नेता

इस पूरे मामले पर टीएमसी के एक और नेता सौगत राय ने भी कुछ संकेत दिए हैं। सौगत राय ने कहा कि ऐसे बहुत से लोग हैं जो अभिषेक बनर्जी के संपर्क में हैं और वह सभी वापस जाना चाहते हैं। सौगत राय ने कहा कि मुझे लगता है की पार्टी छोड़कर जाने वाले लोगों को दो कैटेगरी में बांट देना चाहिए और यह 2 कैटेगरी सॉफ्ट लाइनर और हार्ड लाइनर होगा। सॉफ्टलाइन में वे नेता आयेगे जो पार्टी तो छोड़ी लेकिन ममता बनर्जी का अपमान कभी नहीं किया। जबकि हार्ड लाइनर में उन नेताओं को रखा जाए जो ममता के बारे में सार्वजनिक रूप से बयान दिए। अहम बात यह है कि मुकुल राय ने कभी भी ममता बनर्जी पर निजी तौर से कोई बयान या आरोप नहीं लगाए थे ऐसे में उन्हें सॉफ्ट लाइनर माना जा सकता है।

यह भी पढ़े : श्रीलंका दौरे से पहले इंडिया का प्लान, गब्बर को सौंपी कमान