बिहार में बुझता चिराग, LJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से भी हुए बेदखल, एलजेपी दफ्तर में समर्थकों का हंगामा।

0
33
LJP चिराग पासवान

रामबिलास पासवान कि मृत्यु के 8 महीने बाद ही बिखर गयी LJP

बिहार की राजनीति में आजकल सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। LJP (लोक जनशक्ति पार्टी) में बीते कुछ दिन से खींचातानी चल रही है। दिवंगत नेता रामविलास पासवान की बनाई LJP (लोक जनशक्ति पार्टी) अब पूरी तरह से बिखरती हुई नजर आ रही है। रामविलास पासवान ने सन 2000 में इस पार्टी का निर्माण किया था और उनकी मृत्यु के 8 महीने बाद ही पार्टी पूरी तरह से टूट गई है।

यह भी पढ़े : बिहार में चिराग तले हुआ अंधेरा, LJP में चले पर्दे के पीछे ऑपरेशन की पूरी कहानी।

चाचा ने चिराग को अध्यक्ष पद से हटाया

इस पार्टी में फूट डालने का आरोप रामविलास पासवान के छोटे भाई के ऊपर लग रहा है। रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान पार्टी टूटने के बाद से पूरी तरह से बैकफुट पर आ गए हैं। चिराग पासवान के चाचा पशुपति कुमार पारस ने संविधान का हवाला देते हुए चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटा दिया है।

यह भी पढ़े : अखिलेश यादव ने भी राम मंदिर के जमीन घोटाले पर उठाये सवाल, कहा ट्रस्ट के सदस्यों को देना चाहिए इस्तीफा !

चिराग के समर्थकों का पटना में हंगामा

खबरों के अनुसार 20 जून को पशुपति कुमार लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। दूसरी तरफ चिराग पासवान फिर से पार्टी को एकजुट करने के लिए कोशिश में लगे हैं और पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक बुलाई है। चिराग पासवान के समर्थकों ने LJP के पटना दफ्तर पर पशुपति पारस के खिलाफ जमकर हंगामा और नारेबाजी किया है। समर्थकों ने पांच सांसद और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीरें और पुतले भी जलाए।

यह भी पढ़े : फेसबुक इंस्टाग्राम पर स्कैम ऐड्स से कैसे हो रही है ठगी ? जाने असली और नकली विज्ञापन में अंतर !

चिराग ने चाचा ने नाम लिखा बेहद भावुक ट्वीट

कार्यकारिणी बैठक से ठीक पहले चिराग ने अपने चाचा के नाम बेहद ही भावुक ट्वीट लिखा और उन्होंने कहा कि पापा के देहांत के बाद से आपके व्यवहार से मैं टूट गया हूं। चिराग ने लिखा कि मैं परिवार और पार्टी में सामंजस्य बनाने में असफल रहा। चिराग पासवान ने ट्वीट में लिखा पापा की बनाई इस पार्टी और परिवार को साथ रखने के लिए मैंने प्रयास किया लेकिन असफल रहा। पार्टी मां के समान है और मां के साथ धोखा नहीं करना चाहिए। लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है। पार्टी में आस्था रखने वाले लोगों को मैं धन्यवाद देता हूं। एक पुराना पत्र साझा करता हूं।

LJP के टूटने की वजह

इस पार्टी में इतनी बड़ी बगावत होने के पीछे का कारण कुछ लोगों ने बताया कि रामविलास पासवान की मृत्यु के बाद चिराग पासवान सारे फैसले खुद ही लेने लग गए थे। कुछ लोगों ने बताया कि चिराग किसी पार्टी के पदाधिकारी या सांसद से किसी प्रकार का कोई राय नहीं ले रहे थे। बिहार विधानसभा चुनाव में बुरी तरह से हार के बाद चिराग ने एलजेपी के बहुत से नेताओं से दूर रहना शुरू कर दिया था।

यह भी पढ़े :  कोरोना वैक्सीन की वजह से भारत में हुई पहली मौत की पुष्टि, वैक्सीन लेने के बाद 68 साल के बुजुर्ग की हुई मौत।