उत्तर प्रदेश में 21 जून से रात्रि कर्फ्यू में दी जाएगी ढील , खुलेंगे मॉल्स, रेस्टोरेंट और पार्क।

1
64
Uttar Pradesh Unlock

उत्तर प्रदेश में धीरे-धीरे कोरोना के मामले कम होते जा रहे हैं। एक वक्त यूपी में कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा था। लेकिन सरकार की सख्ती की वजह से अब प्रदेश में हालात बेहतर हो गए हैं। कोरोना के घटते मामले को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कोरोना कर्फ्यू में ढील देने की तैयारी की है। प्रदेश सरकार ने 21 जून से रात्रि कर्फ्यू को रात 9:00 बजे से सुबह 7:00 बजे तक करने का फैसला किया है।

यह भी पढ़े : BCCI के अध्यक्ष सौरभ गांगुली का मुंबई दौरा , टी 20 विश्वकप पर ले सकते है बड़ा फैसला

उत्तर प्रदेश में रेस्टोरेंट और मॉल्स को खोलने की मिली इजाजत

उत्तर प्रदेश सरकार ने आदेश दिया है कि कोविड प्रोटोकॉल के नियमों का अनुपालन करते हुए रेस्टोरेंट व माल को 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ खोला जा सकता है। सरकार ने पार्क, स्ट्रीट फूड आदि के संचालन के लिए अनुमति दी है। सप्ताहिक कर्फ्यू अभी भी जारी रहेगा। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि कोरोना के समय इस्तेमाल होने वाले पल्स ऑक्सीमीटर की पर्याप्त उपलब्धता प्रदेश में होनी चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि आने वाले कुछ महीने बच्चों के स्वास्थ्य के लिए बेहद सावधानी वाले हैं और संवेदनशील भी हैं।

आने वाले महीने बच्चों के लिए बेहद सावधानी वाले

योगी ने कहा कि अब बरसात का मौसम आरंभ होने वाला है,ऐसे में डेंगू, इंसेफलाइटिस, चिकनगुनिया तथा अन्य समस्याएं तेजी से बढ़ेंगे। जैसा कि विशेषज्ञों ने पहले ही सरकारों को बताया है कि कोरोना का तीसरी लहर भी आ सकती है। ऐसे बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए भी जरूरी प्रबंध किए जाने के निर्देश योगी आदित्यनाथ ने दिया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर के प्रभाव से बचने के लिए हर जरूरी प्रबंध किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़े : फेसबुक इंस्टाग्राम पर स्कैम ऐड्स से कैसे हो रही है ठगी ? जाने असली और नकली विज्ञापन में अंतर !

18 साल कम उम्र वालों के लिए खास अभियान

हम 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को मंगलवार से विशेष कार्यक्रम शुरू कर के घर-घर मेडिकल किट वितरण करने का काम कर रहे हैं। योगी ने कहा यह अत्यंत महत्वपूर्ण कार्यक्रम है जिसके तहत दवाई किट उपलब्ध कराया जा रहा है। इसकी निगरानी करने वाली समितियां जिसको भी दवाई कीट उपलब्ध करा रही हैं उन लाभार्थियों का नाम, पता ,फोन नंबर आदि भी प्राप्त करती रहें। योगी ने आदेश दिया कि सीएम हेल्पलाइन नंबर से फोन कर लाभार्थियों से संपर्क किया जाए और उनकी बच्चों के सेहत की जानकारी भी ली जाए। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में 50 लाख से अधिक बच्चों को निशुल्क दवाई किट का वितरण करने की तैयारी है।

4 वर्गों में बाट कर दिया जाएगा दवाई किट

उन्होंने बताया कि 18 वर्ष से कम आयु के कोविड-19 के लक्षण युक्त बच्चों को 4 वर्गों में विभाजित किया गया है |  यह वर्ग हैं – 0 से 1 वर्ष ,1 से 5 वर्ष, 5 से 12 वर्ष और 12 से 18 वर्ष। इन वर्गों को बांटने का उद्देश्य यह है कि इन सभी वर्गों के लिए अलग-अलग प्रकार की दवाइयों की किट तैयार की गई है।

यह भी पढ़े : बिहार में बुझता चिराग, LJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से भी हुए बेदखल, एलजेपी दफ्तर में समर्थकों का हंगामा।

कोरोना कमजोर हुआ है खत्म नहीं

योगी आदित्यनाथ ने कहा लोगों को सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि वायरस कमजोर हुआ है अभी खत्म नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि छोटी सी भी लापरवाही संक्रमण को फिर से बढ़ा सकती है, इसलिए सभी लोग मास्क, सैनिटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन जरूर करें। योगी ने कहा कि लोग घर से बाहर तभी निकले जब उन्हें कोई जरूरी काम हो, भीड़ में जाने से बचें।

यह भी पढ़े : WTC फाइनल मुकाबले को लेकर ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन की भविष्यवाणी बताया कौन जीतेगा फाइनल !

मेडिकल कॉलेज के लिए जरूरी निर्देश

योगी आदित्यनाथ ने मेडिकल कॉलेजों को निर्देशित किया है कि 100 – 100 बेड के पीआईसीयू स्थापित किए जाएं और इनके साथ ही 50 बेड एनआईसीयू के भी होने चाहिए। उन्होंने कहा कि जिला अस्पताल और सीएचसी के स्तर पर भी मिनी पीकू स्थापित किए जाएंगे और इनका निरीक्षण प्रभारी मंत्रीगणों द्वारा किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश में मौजूदा हालत

आपको बता दें कि वर्तमान में उत्तर प्रदेश मे 7221 एक्टिव मामले हैं। 24 घंटे में कुल पॉजिटिव दर मात्र 0.1% रह गई है जबकि रिकवरी दर बढ़कर 98.3% है।

यह भी पढ़े : कोरोना वैक्सीन की वजह से भारत में हुई पहली मौत की पुष्टि, वैक्सीन लेने के बाद 68 साल के बुजुर्ग की हुई मौत।