Muharram को लेकर CM Yogi से Maulana kalbe Jawad की हुई मुलाकात |

सभी धर्म के लोग अपने-अपने त्यौहारों को बड़े जोश और जश्न के साथ मनाना चाहते हैं और मनाते भी है लेकिन कभी-कभी हालात तब बिगड़ जाते है ज़ब दों धर्मों के त्योहार एक साथ पड़ जाते हैं या फिर कोई रैली निकाली जाती है। अक्सर आपने सुना होगा इस दिन दों दो त्यौहार एक ही साथ पड़ रहे हैं हों सकता है कि माहौल बिगड़ जाए और ऐसा खासकर आपने उत्तर प्रदेश में जरूर देखा होगा। जब भी ऐसा कोई मौका आता है तो उनके लिए खास हिदायत दी जाती है कि दोनों धर्मों के लोग अपना त्यौहार खुशी से मनाये। लेकिन दूसरे समुदाय का भी ख्याल रखें ऐसा कोई काम ना करें जिससे कोई माहौल बिगड़े। बल्कि भाईचारे को कायम रखते हुए त्यौहार मनाए।

मोहर्रम मनाने सें पहले जान लो CM योगी नें क्या कहा

इसी सिलसिले में अब तक मोहर्रम को लेकर कई तरह की अफवाहें रही थी। जो कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ कर दी हैं। आने वाले मोहर्रम के मौके पर मछली से उलेमा ए हिंद के महासचिव और सिया धर्म गुरु मौलाना कल्बे जवाद नकवी ने प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से उनके आवास पर मुलाकात की जाहिर है कि इस दिन मुहर्रम वाले मौके पर लोग अपना शोक व्यक्त करते हैं। और इसके लिए मौलाना कल्बे जवाद ने सीएम योगी से मुलाकात की जिसके बाद मौलाना कल्बे जवाद ने बताया कि सीएम योगी ने साफ शब्दों में कहा है कि मुहर्रम हो ऐसे ही होगा जैसे रिवायत के अनुसार होता है। अजादारी कि किसी भी रिवायत पर किसी तरह की रोक नहीं होगी मौलाना ने आगे बताया कि लोगों को थोड़ा ध्यान रखने की जरूरत है। सीएम योगी ने बेजा हथियारों की नुमाइश और शक्ति प्रदर्शन पर प्रतिबंध लगाया है पर रिवायती कमा और जंजीर के मातम कोई पाबंदी नहीं है यानी कि मुहर्रम के मौके पर जो मातम जों जुलूस निकलता है आप उसमें इनके साथ मातम मना सकते हैं।

मुहर्रम-कावड़ यात्रा को लेकर योगी सरकार सख्त

जाहिर है इस मामले में पहले ही CM योगी आदित्य नाथ की प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक हुई थी। जिस में आने वाले मौके पर CM योगी आदित्य नाथ ने अधिकारियों को कुछ दिशा निर्देश दिए थे इसी बैठक में योगी ने कांवड़ यात्रा को लेकर भी कुछ दिशानिर्देश दी CM योगी आदित्य नाथ ने कहा कि कहीं भी कावड़ यात्रा का जत्था और मुहर्रम का जुलूस आपस में ना टकराए इसका पुलिस प्रशासन खास ध्यान रखें इसके लिए पहले से ही रूठ तैयार किए जाएं ताकि ऐसी स्थिति पैदा ना हो सके। इतना ही नहीं CM योगी ने अधिकारियों से साफ कहा कि त्योहारों के दौरान माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों से शक्ति से निपटा जाए और साथ ही जुलूसों में हथियारों का प्रदर्शन नहीं होना चाहिए। जुलूस और रैलियों में जो भी इस तरह के प्रदर्शन करते हैं उनसे शक्ति सें निपटा जाए इस मामले में सीएम योगी ने कहा कि आने वाले मौके पर पूरे प्रशासन को सतर्क रहने की जरूरत है जब मामले ऐसे संवेदनशील दिखे तो इसी तरह आपको याद ही होगा बकरा ईद के मौके पर कुर्बानी क़े लिए निर्देश दिए थे कि कुर्बानी सार्वजनिक स्थल पर नहीं हों। जों निर्धारित स्थल हों जहां पर होता आया है वही पर कुर्बानी दी जाए विवादित जगहों पर कुर्बानी ना की जाये।