Russia Ukraine war: बेनतीजा रही रूस-यूक्रेन के बीच हुई तीसरे दौर की बातचीत

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध का 13वां दिन है, बीते 13 दिनों से लगातार हो रहे गोला-बारी नें पूरे यूक्रेन को बर्बाद कर दिया है। पुतिन की सेना पीछे हट रही है और ना ही यूक्रेन के राष्ट्र-पति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की हार मानने को तैयार है। दो बार की बैठक बेनतीजा रहने के बाद सोमवार को दोनों देशों के बीच फिर से तीसरे दौर की बात-चीत लेकिन तीसरे दौर की बात-चीत भी बेनतीजा रही। रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और यूक्रेनी विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा की आज मंगलवार को तुर्की में मुलाकात होगी, तुर्की में दोनों नेता बैठक करेंगे तुर्की नें युद्ध खत्म होने की उम्मीद जताई है। यूक्रेन की मीडिया ने दावा किया है कि रूस ने युद्ध रोकने के लिए यूक्रेन के सामने 4 शर्ते रखी हैं।

युद्ध रोकने के लिए रूस ने यूक्रेन के सामने रखी ये 4 शर्तें?

पहली शर्त यह है कि यूक्रेन की तरफ से सैन्य कार्रवाई बंद हो। रूस हमेशा से यूक्रेन किसी संगठन में शामिल होने की बात पर नाराजगी जताता रहा है इस युद्ध का कारण भी यही है कि यूक्रेन लगातार नैटो में शामिल होने की कोशिश कर रहा था। रूस चाहता है कि यूक्रेन टठास बने रहने के लिए अपने संविधान में बदलाव करें रूस ने तीसरी शर्त यह रखी है कि यूक्रेन क्रीमिया को रूसी हिस्से के के रूप में मान्यता दें, और डोनेशक लोहान शक को स्वतंत्र देश माने। अगर यूक्रेन इन शर्तो को मानता है, तभी रूस युद्ध विराम लगाएगा। उधर यूक्रेन के राष्ट्र-पति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की नें कड़े अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध और व्यापार प्रतिबंध लगाने की मांग की है, इधर यूक्रेन के रूस के मेजर जनरल विटेली गेस्ट को मार देने का दावा किया गया है। कीव इंडिपेंडेंट यूक्रेन की डिफेंस मिस्ट्री के इंटेलिजेंस चीफ के हवाले से यह खबर दी है, खबर के मुताबिक खर्कीव के पास यूक्रेन और रूस की सेनाओं के बीच जंग में मेजर जनरल विटेली गेस्ट मारे गए। गौरतलब है कि यूक्रेन पर लगातार बम-बारी के बीच लोग अपनी जान बचाने के लिए देश छोड़ रहे हैं। जिनमें बच्चे, बुजुर्गों से लेकर बीमार तक शामिल हैं।