Russia Ukrain War : राष्ट्रपति वोल्दोमीर जेलेंस्की ने छोड़ा यूक्रेन ? जाने किस देश में ली शरण ?

0
3
Russia Ukrain War

नौवें दिन भी रूस और यूक्रेन के बीच जंग (Russia Ukrain War) जारी रही। जंग के नौवें दिन रूसी सेना ने यूक्रेन के जपोरिझिया न्यूक्लियर पावर प्लांट पर कब्जा कर लिया है। इस प्लांट पर रूसी सेना ने जमकर गोलाबारी की जिसकी वजह से प्लांट में आग लग गई। इस प्लांट की एडमिन और कंट्रोल बिल्डिंग पर भी रूसी सेना का कब्जा है। रूसी सेना लगातार यूक्रेन के चेर्निहिव में हवाई हमले (Russia Ukrain War) कर रही है। इन हवाई हमलों में अब तक 47 लोगों की जान गई है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने छोड़ा देश

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमीर जेलेंस्की ने देश की राजधानी कीव के बंकर से बचकर पोलैंड में चले गए हैं। यूक्रेन के राष्ट्रपति का इस तरह से यूक्रेन से पोलैंड जाना इसलिए भी महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि 2 दिन पहले अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि जेलेंस्की जब चाहे तब उन्हें यूक्रेन से एअरलिफ्ट किया जा सकता है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के इस ऑफर का जवाब देते हुए जेलेंस्की ने कहा कि वह किसी भी कीमत पर यूक्रेन और यूक्रेन के लोगों को नहीं छोड़ेंगे। रुसी मीडिया द्वारा किये गए इस दावे पर पलटवार करते हुए यूक्रेन ने कहा की राष्ट्रपति देश छोड़ कर कही नहीं गए है, वो अभी भी यूक्रेन की राजधानी कीव में ही है। 

Russia Ukrain War

रूस ने स्कूलों और अस्पतालों पर शुरू किए हमलें

फिलहाल इस बात की पुष्टि अब तक नहीं हो पाई है कि जेलेंस्की को पोलैंड पहुंचाने में सीआईए का हाथ है या नहीं। रसिया के फाइटर जेट्स ने अब अस्पतालों और स्कूलों पर हमले (Russia Ukrain War) करने शुरू कर दिए हैं। तमाम अपीलों के बावजूद भी रूस के फाइटर जेट्स हमले बंद नहीं कर रहे हैं।

Russia Ukrain War ने बर्बाद किये कई स्कूल और अस्पताल

खबरों के मुताबिक रूस के एक फाइटर जेट्स ने झायटोमिर में एक मिडिल स्कूल पर हमला (Russia Ukrain War) कर दिया है। इस हमले की वजह से स्कूल की बिल्डिंग पूरी तरह से तबाह हो गई है। इसी स्कूल के प्ले ग्राउंड में कुछ देर पहले मिसाइल गिरने की भी खबर आई थी। रशिया और यूक्रेन के बीच युद्ध आरंभ होने के बाद सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया था जिसकी वजह से मिसाइल गिरने के बाद किसी की जान को नुकसान नहीं पहुंचा है।

यह भी पढ़े: C-17 Globemaster यूक्रेन में फसे भारतीयों के लिए बना संकटमोचन, जाने इसकी खासियत।

यूक्रेन में अब तक रूस के हमले में 4 स्कूल तबाह कर दिए गए हैं। रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने बताया यूक्रेन की सेना विदेशियों को बंधक बनाकर उन्हें ह्यूमन शिल्ड की तरह इस्तेमाल कर रही है। रूस और यूक्रेन के बीच शांति वार्ता भी चल रही है।

शांति वार्ता से संतुष्ट नही है यूक्रेन

गुरुवार को इन दोनों देशों के बीच शांति वार्ता हुई। इस बातचीत के दौरान दोनों देशों ने ह्यूमैनिटेरियन  कॉरिडोर बनाने पर सहमति जताई है। ह्यूमैनिटेरियन कॉरिडोर की मदद से युद्ध वाले क्षेत्रों में लोगों तक दवाइयां और भोजन पहुंचाने का काम किया जाएगा। यूक्रेन इस शांति वार्ता के दौरान हुई बातचीत से संतुष्ट नहीं हुआ है। बहुत जल्दी तीसरे दौर की बैठक भी बुलाई जा सकती है।

यह भी पढ़े: Farrukhabad में अंग्रेजी शराब पीने से तीन की मौत, डीएम ने दिए जांच के आदेश।

अमेरिका ने रूस पर लगाए कई प्रतिबंध

शुक्रवार को अमेरिका ने रूस पर कुछ नए प्रतिबंध लगाएं हैं। व्हाइट हाउस की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक 66 नागरिकों के वीजा पर बैन लगाया गया है। इस बैन में पुतिन के प्रेस सेक्रेटरी दमित्री पेस्कोव शामिल है। युद्ध (Russia Ukrain War) के बाद से ही रूस पर अमेरिका ने डिफेंस एक्सपोर्ट पर प्रतिबंध लगाया हुआ था।

यह भी पढ़े: Up election 2022: मिर्जापुर रैली में परिवारवादियों पर बरसे PM मोदी जानिए क्या बोला?

यूक्रेन के लोगों को अमेरिका ने टेंपरेरी प्रोटेक्टेड स्टेटस देने का भी निर्णय लिया है। इस स्टेटस को देने के बाद यूक्रेन के नागरिकों को देश में 18 महीने तक बिना किसी रोक – टोक के रहने में सहूलियत होगा। यूक्रेन को 10 अरब डालर की सहायता राशि भी देने का प्रस्ताव बाइडन प्रशासन की तरफ से अमेरिकी कांग्रेस को दिया गया है।

यह भी पढ़े: Quad Summit 2022 में रूस – यूक्रेन को लेकर चर्चा, इस बैठक में 4 देश थे शामिल।