DigiLocker : CBSE बोर्ड के छात्र डिजिलॉकर के जरिए देख पाएंगे अपना रिजल्ट, इन आसान स्टेप्स से बनाएं अपना DigiLocker का अकाउंट।

0
1

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) के परीक्षा परिणाम बहुत जल्द ही जारी होने वाले हैं। इन रिजल्ट्स को इस बार डिजिलॉकर (DigiLocker)  में भी उपलब्ध कराए जाएंगे। सीबीएसई बोर्ड के रिजल्ट छात्र इस बार डिजिलॉकर ऐप की मदद से देख सकते हैं। इसके लिए स्टूडेंट्स को डिजिलॉकर अकाउंट बनाना होगा। जिनके पास पहले से अकाउंट है वह इसमें लॉगइन करके अपना मार्कशीट, पास सर्टिफिकेट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट और स्कूल सर्टिफिकेट जैसे सभी जरूरी डाक्यूमेंट्स को प्राप्त कर पाएंगे।

यह भी पढ़े: बिना कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाएं उत्तर प्रदेश में नो एंट्री, उत्तर प्रदेश में आने से पहले जाने नई गाइडलाइंस।

कोरोना  के चलते इस बार सीबीएसई बोर्ड ने अपनी परीक्षाएं रद्द कर दी थी और रिजल्ट को ऑब्जेक्टिव असेसमेंट स्कीम के तहत तैयार किया जा रहा है। सीबीएसई बोर्ड के कक्षा 10वीं और 12वीं का रिजल्ट 31 जुलाई तक जारी किया जाएगा। स्टूडेंट के सभी संबंधित डाक्यूमेंट्स डिजिलॉकर के खातों में भेज दिए जाएंगे।

यह भी पढ़े: भाजपा ने दिया मुनव्वर राणा को जवाब कहा किसी दूसरे राज्यों में घर ढूंढने की कर ले तैयारी 2022 में फिर योगी आएंगे वापस।

DigiLocker क्या है?

यह एक ऐसा एप्लीकेशन जिसके जरिए डाक्यूमेंट्स और सर्टिफिकेट को जमा किया जा सकता है। यह  ऐप डाक्यूमेंट्स शेयर और वेरिफिकेशन के लिए बनाया गया। यह एक सुरक्षित क्लाउड आधारित प्लेटफार्म है।

डिजिलॉकर अकाउंट कैसे बनाएं?

1. सबसे पहले डिजिलॉकर के इस लिंक https://www.digilocker.gov.in/dashboard पर जाना होगा।

2. अपने आधार कार्ड के मुताबिक अपना नाम और जन्मतिथि को दर्ज करें।

3. इसके बाद अपना जेंडर और मोबाइल नंबर डालें।

4. 6 अंको की सुरक्षा पिन भरें।

5. अपनी ईमेल आईडी और आधार नंबर दर्ज कराएं।

6. इन सभी विवरणों को देने के बाद उपयोगकर्ता अपना नाम सेट कर सकते हैं।

7. डिजिलॉकर अकाउंट बनाने के बाद आप डॉक्यूमेंट ब्राउज़र ऑप्शन पर क्लिक करिए।

8. जिसके बाद आप बोर्ड परीक्षा डॉक्यूमेंट प्राप्त करने के लिए अपना बोर्ड द्वारा दिया गया रोल नंबर दर्ज करें।

DigiLocker

यह भी पढ़े: AIMIM : असदुद्दीन ओवैसी का ट्विटर अकाउंट हुआ हैक, DP पर लगाया ELON MUSK की तस्वीर।

डिजिलॉकर के पास इस समय करीब 200 से ज्यादा अलग-अलग प्रकार के डिजिटल डॉक्यूमेंट रखने की सुविधा है। अब तक डीजी लॉकर के करीब 67.06 मिलियन रजिस्टर्ड यूजर है जिसमें 4.32 बिलियन डाक्यूमेंट्स जारी किए गए।

यह भी पढ़े: Monkey B Virus : कोरोना महामारी के बीच चीन से आई एक नई मुसीबत, घातक Monkey B Virus (BV) की हुई एंट्री।