Navjot Singh Sidhu की बल्ले – बल्ले : बनाये गए पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष , पढ़े पंजाब की राजनीति का पूरा विश्लेषण।

पंजाब (Punjab) कांग्रेस (Congress) में चल रहे संकट के बीच एक बड़ा फैसला आखिरकार देर रात होते-होते ले लिया गया। नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को कांग्रेस पार्टी ने पंजाब प्रदेश अध्यक्ष चुन लिया। अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव की तैयारी को देखते हुए 4 वर्किंग प्रेसिडेंट भी बनाए गए हैं। इसके साथ ही वेणुगोपाल की तरफ से एक पत्र जारी भी कर दिया गया है जिसमें लिखा है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने यह फैसला किया है।

Navjot Singh Sidhu

यह भी पढ़े: भाजपा ने दिया मुनव्वर राणा को जवाब कहा किसी दूसरे राज्यों में घर ढूंढने की कर ले तैयारी 2022 में फिर योगी आएंगे वापस।

4 नए वर्किंग प्रेसिडेंट भी बनाये गए 

जिन चार लोगों को वर्किंग प्रेसिडेंट बनाया गया है उनमें सुखविंदर सिंह डैनी, संगत सिंह ,पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा का नाम शामिल है। नवजोत सिंह सिद्धू के प्रदेश अध्यक्ष बनते ही यह बात साफ हो गई है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री बने रहेंगे और राज्य में कांग्रेस की कमान को नवजोत सिंह सिद्धू के हाथों में दे दी गई है।

Navjot Singh सिद्धू का विवाद अभी खत्म नहीं हुआ है

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के अध्यक्ष बनने और कैप्टन अमरिंदर सिंह के पंजाब मुख्यमंत्री बने रहने के बाद भी यह विवाद खत्म होता नहीं दिख रहा है बल्कि यह विवाद बढ़ता ही जा रहा है। कांग्रेस के तमाम विधायकों ने रविवार को सोनिया गांधी को पत्र लिखा और नवजोत सिंह सिद्धू को अध्यक्ष पद नहीं सौंपने की गुजारिश भी की थी।

यह भी पढ़े: बिना कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाएं उत्तर प्रदेश में नो एंट्री, उत्तर प्रदेश में आने से पहले जाने नई गाइडलाइंस।

यहां एक और खास बात है, कांग्रेस से अब तक जब भी कोई मुख्यमंत्री या अध्यक्ष बनाया जाता है प्रदेश कार्यकारिणी सोनिया गांधी के नाम पत्र लिखती है। ऐसा पहली बार होता दिख रहा है कि प्रदेश कार्यकारिणी मीटिंग बुला रही है दूसरी तरफ अध्यक्ष का ऐलान हो जाता है।

यह भी पढ़े: अपने तो अपने होते हैं : लखनऊ से गिरफ्तार हुए दो आतंकियों का जमीयत उलमा-ए-हिंद लड़ेगी केस ।

Navjot Singh Sidhu को अध्यक्ष बनाये जाने से नाखुश है पंजाब के विधायक

सोमवार को पंजाब कांग्रेस प्रदेश कार्यकारिणी के द्वारा एक मीटिंग बुलाई गई जिसमें यह फैसला लिया जाना था कि हाईकमान का जो फैसला है वह प्रदेश कांग्रेस को बिल्कुल भी मंजूर नहीं है। लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि इस मीटिंग से पहले दिल्ली से फैसला आता है और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को पंजाब कांग्रेस की कमान सौंपी दी जाती है।

केसी वेणुगोपाल ने जारी किया पत्र

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल की तरफ से पत्र जारी हुआ और आगे मौजूदा कांग्रेस प्रदेश प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ को अब तक के काम के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया जाता है। बताया जाता है कि कुलजीत सिंह नागरा जो कि अभी सिक्किम, नागालैंड, त्रिपुरा के AICC इंचार्ज है वह इस पद से मुक्त किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़े: Ind VS SL 1st ODI 2021 | श्रीलंका और भारत के बीच खेले गए पहले वनडे मैच में भारत ने श्रीलंका को 7 विकेट से रौंदा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *