UP के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने KGMU Hospital Lucknow का किया निरीक्षण!

योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश की बाग-डोर दोबारा संभालने के बाद एक्शन लेने शुरू कर दिए हैं। वहीं डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक भी स्वास्थ्य सुविधाओं को सुधारने में जुटे हुए हैं, इसी बीच डिप्टी सीएम बृजेश पाठक लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी अस्पताल में आम जनता की तरह पहुंचे। वो मरीज बनकर लाइन में लग गए इस दौरान उन्होंने लोगों की समस्या को जाना और इधर-उधर घूम कर सूचनाएं जुटाई। डिप्टी सीएम बृजेश पाठक खास तौर पर OPD पहुंचे, जहां की बद इंतजामी को लेकर उन्होंने नाराजगी जताई। वही रजिस्ट्रेशन के लिए KGMU के नंबर पर फोन करने वाले मरीजों की कॉल रिसीव नहीं होने पर अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई, डिप्टी सीएम ने 24 घंटों में व्यवस्थाओं को सुधारने के निर्देश दिए। दरअसल निरीक्षण के दौरान डिप्टी सीएम बृजेश पाठक रजिस्ट्रेशन के लिए दिए गए नंबर पर कई बार कॉल किए हर बार नंबर बिजी आया जिससे नाराज होकर वो प्रशासनिक अधिकारियों के साथ एक्सचेंज पहुंचे वहां सिर्फ दो लाइन पर बातें हो रही थी, और बाकी 10 लाइन खाली थी। इससे बृजेश पाठक नाराज हो गए उन्होंने अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई।

बृजेश पाठक ने अधिकारियों की जमकर लगाई क्लास?

कई मरीजों और उनके परिजनों ने बताया कि वो सुबह से ही लाइन में खड़े हैं लेकिन उनका नंबर नहीं आ रहा है। लाइन में खड़े लोगों को देखने वाला कोई नहीं है, इस पर नाराज डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने अधिकारियों को अस्पताल के हालात में सुधार के निर्देश दिए। इसके साथ ही बृजेश पाठक ने बलिया की घटना की जांच के आदेश देने की बात भी बताई उन्होंने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है, दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। दरअसल बलिया में एक बुजुर्ग पति को अपनी बीमार पत्नी को अस्पताल ले जाने के लिए कोई साधन नहीं मिला लाचार होकर वो ठेले पर ही मरीज को लेकर 4 किलो मीटर दूर अस्पताल पहुंचा। जिसकी खबर और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई इसके बाद डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने कार्रवाई का भरोसा दिया है।