Rudraksha convention centre : पीएम मोदी का आज काशी दौरा, जाने क्या है शिवलिंग के आकार का बना रुद्राक्ष।

प्रधानमंत्री मोदी 7 सालों में आज अपने संसदीय क्षेत्र बनारस का 27 वा दौरा कर रहे हैं। आज इस दौरे में प्रधानमंत्री मोदी करीब 15 सौ करोड़ रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे। इन परियोजनाओं में से सबसे चर्चित परियोजना रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर (Rudraksha convention centre) है। रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर (Rudraksha convention centre) को आज प्रधानमंत्री मोदी ने काशी की जनता को समर्पित कर दिया। इस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर (Rudraksha convention centre) को बनाने के लिए करीब 186 करोड रुपए की लागत लगी है।

Rudraksha convention centre

यह भी पढ़े: कलह की निकली सुलह : सिद्धू के हाथों में होगी पंजाब की कमान, पीके के दखल के बाद कैप्टन और सिद्धू के बीच निकला सुलह का फॉर्मूला।

क्या है यह Rudraksha convention centre?

रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर (Rudraksha convention centre) शिव लिंग के आकार का बनाया गया है जिसको जापान की एक कंपनी फुजिता कॉरपोरेशन ने बनाया है। इस रुद्राक्ष इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर की डिजाइनिंग भी एक जापानी कंपनी जिसका नाम ओरिएंटल कंसलटेंट ग्लोबल है उसने तैयार की थी। रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर भारत और जापान की दोस्ती को मजबूती प्रदान करने वाला है।

यह भी पढ़े: Defence Parliamentary Committee : LAC पर पर चर्चा न होने की वजह से संसदीय रक्षा कमेटी की बैठक से राहुल गांधी ने किया वॉकआउट।

जापान और भारत की दोस्ती को देगा नया आयाम

जापान के पूर्व पीएम शिंजो आबे ने मां गंगा की सौगंध लेकर बनारस में अपने भारत के साथ मजबूत रिश्तो की सुनहरी इबारत लिखने का प्रयास किया है। इस रुद्राक्ष सेंटर में बड़े म्यूजिक कंसर्ट कॉन्फ्रेंस और नाटक तथा प्रदर्शन आयोजित हो सकते हैं। इस कन्वेंशन सेंटर पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचेंगे जिसके बाद सबसे पहला काम वह इस सेंटर पर एक पौधा लगाएंगे जिसके बाद इस कन्वेंशन सेंटर का रिबन काटकर उद्घाटन किया जाएगा।

Rudraksha convention centre में क्या-क्या सुविधाएं हैं?

इस Rudraksha convention centre को पूर्ण रूप से वातानुकूल बनाया गया है जिसमें 1200 लोग एक साथ बैठ सकते हैं इसको दो भागों में भी बांटने की सुविधा दी गई है। इसमें एक बड़ा हाल है जिसके साथ ही एक डेढ़ सौ लोगों की क्षमता वाला भी मीटिंग हाल तैयार किया गया है। इस कन्वेंशन सेंटर में एक वीआईपी कक्ष, 4 ग्रीन रूम और दिव्यांग जनों की सुविधा की दृष्टि से इस परिसर को बनाया गया है। सेंटर के बाहरी हिस्से की बात करें तो एलमुनियम के 108 सांकेतिक रुद्राक्ष लगाए गए हैं। इस रुद्राक्ष सेंटर में 120 गाड़ियों की पार्किंग की सुविधा दी जाएगी। पुरे परिसर में CCTV कमरे होंगे। बिजली आपूर्ति के लिए बिजली कनेक्शन के साथ साथ सौर्य ऊर्जा का भी प्रयोग किया जाएगा। 

यह भी पढ़े: इंग्लैंड दौरे पर गई भारतीय टीम के लिए आई बुरी खबर, ऋषभ पंत कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से हुए संक्रमित।

जापान के फूलों की मिलेगी सुगंध

रुद्राक्ष की छत को देखा जाए तो वह शिवलिंग के आकार का दिखता है। इस Rudraksha convention centre का निर्माण 10 July 2018 को शुरू किया गया था जो मार्च 2021 को बन कर तैयार हो गया। इस रुद्राक्ष सेंटर में जापानी फूलों का सुगंध का एहसास होगा क्योंकि इसको जापानी फूल से सजाया गया है। जापान से खास फूल जिसमें प्रिमूला, बाना, इकेबाना, ब्लूबेल, कैमलिया, कारनेटरसन समेत भारतीय फूलों में रजनीगंधा, गेंदा, गुलाब, बेला और अन्य फूलों का इस्तेमाल इसके सजावट में किया गया है। इस पूरे परिसर को भारत और जापान के झंडे से सजाया गया है।

यह भी पढ़े: महंगाई भत्ता : महंगाई के बीच आई राहत की खबर, 17% से बढ़कर 28% हुआ DA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *