फ़्रांस के राष्ट्रपति Emmanuel Macron ने पीएम मोदी से फ़ोन पर की बातचीत, जाने किन मुद्दों को लेकर हुई चर्चा, ऑकस और क्वाड गठबंधन क्या है?

2
215
Emmanuel Macron

आज यानी मंगलवार को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) से फोन पर चर्चा किया। खबरों के मुताबिक इन दोनों नेताओं के बीच हिंद प्रशांत क्षेत्र को लेकर बातचीत हुई। इस फोन पर बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) ने अफगानिस्तान के हालात को लेकर चर्चा किया।

यह भी पढ़े: IIT-BHU ने खोजा 1 ऐसा बैक्टीरियल स्ट्रेन जो पानी से जहरीले तत्वों (Chromium Hexavalent) को करेगा अलग, जाने इसकी खासियत।

ऑस्ट्रेलिया ने फ़्रांस के साथ रद्द किया चार हजार करोड़ का पनडुब्बी समझौता

आपको बता दें फ्रांस के साथ आस्ट्रेलिया ने चार हजार करोड़ डॉलर की पनडुब्बी के सौदे को भी रद्द कर दिया है। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर द्विपक्षीय बैठकों की एक श्रृंखला आरंभ करने वाले हैं। इस द्विपक्षीय बैठक की शुरुआत आज न्यूयॉर्क में फ्रांस के विदेश मंत्री के साथ बैठक से हुई।

Emmanuel Macron

त्रिपक्षीय रक्षा गठबंधन के जरिये ऑस्ट्रेलिया सीखेगा पनडुब्बी बनाने की तकनीकी

खबरों के मुताबिक अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम और ऑस्ट्रेलिया हाल ही में ‘ऑकस’ नामक एक त्रिपक्षीय रक्षा गठबंधन किया है। त्रिपक्षीय रक्षा गठबंधन के तहत ऑस्ट्रेलिया को परमाणु ऊर्जा से पनडुब्बी बनाने की तकनीकी के बारे में बताया जाएगा। इस गठबंधन के बाद से ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस के साथ $4000 के सौदे से अपना हाथ हटाने का फैसला किया जिसको लेकर बेहद नाराज है।

यह भी पढ़े: UP BOARD IMPROVEMENT EXAM 2021 का आज था पहला दिन, जाने कब खत्म होगी ये परीक्षा, बोर्ड ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर।

भारत नहीं है ऑकस गठबंधन का हिस्सा 

चीन का मुकाबला करने के लिए ऑकस का गठबंधन हुआ है। लेकिन इससे पहले भी क्वाड नामक एक संगठन बनाया गया है। आपको बता दें क्वाड संगठन का हिस्सा भारत भी है लेकिन ऑकस का हिस्सा भारत नहीं है। क्वाड नामक संगठन में भारत के साथ ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान शामिल है।

यह भी पढ़े: देश में मिले रहे है Serotype 2 Dengue के बेहद खतरनाक स्ट्रेन, केंद्र सरकार ने 11 राज्यों के लिए जारी किया अलर्ट, जाने इस नए स्ट्रेन के लक्षण और बचाव के उपाय।

दोनों संघठन का अलग अलग है उद्देश्य

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने इस बात को साफ साफ बताते हुए कहा इन क्वाड और ऑकस इन दोनों संगठनों का उद्देश्य अलग अलग है और इस पर किसी भी प्रकार का कोई असर नहीं होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति अपने फोन पर वार्ता करते समय अफगानिस्तान के हालात को लेकर चिंताएं व्यक्त की है।

अफगानिस्तान के हालत पर भी Emmanuel Macron ने की चर्चा 

इस वार्ता के दौरान अफगानिस्तान में हालात पर बातचीत करते हुए कहा कि इन मानवीय संगठनों का कार्य करने की अनुमति देनी चाहिए और अफगानिस्तान में महिलाओं के मौलिक अधिकारों का सम्मान भी होना चाहिए। फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) के कार्यालय ने बताया कि राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) ने भारत के कोवाक्स पहल के तहत टीका आपूर्ति को लेकर फिर से इस फैसले को बहाल करने का स्वागत कर रहे हैं।

आने वाले दिनों में भी भारत के सम्पर्क में रहेंगे – Emmanuel Macron

इस बातचीत के दौरान इमैनुअल मैक्रों (Emmanuel Macron) के कार्यालय की तरफ से कहा गया की दोनों देश आने वाले कार्यक्रमों समन्वय के संबंध के लिए लगातार संपर्क में रहेंगे और आगे इस चर्चा करते रहेंगे। इस बातचीत के दौरान कहा गया कि फ्रांस और भारत कोरोना महामारी के खिलाफ संयुक्त प्रयास अपना जारी रखेंगे। खासतौर पर G20 और जलवायु परिवर्तन पर कॉप26 सम्मेलन शामिल है।

यह भी पढ़े: GST के दायरे में आएंगे DIESEL – PETROL ? कल सरकार ले सकती है बड़ा फैसला, जाने GST के दायरे में आने से क्या होगा लाभ?