Farrukhabad में अंग्रेजी शराब पीने से तीन की मौत, डीएम ने दिए जांच के आदेश।

0
4
Farrukhabad

उत्तरप्रदेश, Farrukhabad 

सार – अभी तक यह जानकारी आई है कि देशी शराब से लोगों की मौत होती है परंतु अंग्रेजी शराब पीने से तीन लोगों की हुई जो कि चौकाने वाली बात है ।

Farrukhabad

Farrukhabad में अंग्रेजी शराब ने तीन दोस्तों की ली जान 

फर्रुखाबाद शहर (Farrukhabad) से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। Farrukhabad में अंग्रेजी शराब पीने से तीन दोस्तों की मौत हुई है। इस खबर को सुनते ही पूरे जिले में हाहाकार मच गया क्योंकि इस तरह की खबर पहली बार सुनने को मिला है। बताया जा रहा है कि तीनों दोस्तों ने ठेके से शराब मंगवाई थी। उस शराब को पीने के बाद तीनों एक – एक करके गिरने लगे। थोड़ी देर बाद घरवालों ने तीनों को निजी अस्पताल (Farrukhabad)में भर्ती कराया जहां अस्पताल के डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़े: C-17 Globemaster यूक्रेन में फसे भारतीयों के लिए बना संकटमोचन, जाने इसकी खासियत।

अंग्रेजी शराब इंपीरियल ब्लू का तीनों ने किया था सेवन 

जानकारी मिलते ही यह मामला अहमलापुर गांव के मोहम्मदापुर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराया गया। जिसके बाद वहां के एसपी अशोक कुमार मीणा पुलिस के साथ मौका-ए-वारदात पहुंचे और मामले की जांच शुरु की। पुलिस के मुताबिक पार्टी के लिए ओमकार गुरुवार को जितेंद्र के घर पहुंचा जहां जितेंद्र ने परिवार के 26 वर्षीय मोनू को अंग्रेजी शराब के लिए पैसे दिए।

यह भी पढ़े: Muzaffarnagar में 72 साल का शिक्षक बना हैवान, 9 साल की बच्ची से किया दुष्कर्म।

मोनू भरतापुर में स्थित अंग्रेजी शराब के ठेके से इंपीरियल ब्लू शराब लेकर घर पहुंचा। इसके बाद तीनों कुर्सी पर बैठकर शराब पीने लगे। शराब पीते – पीते तीनों कुर्सी से गिर गए। जिसके बाद परिजन तीनों को पास के अस्पताल में लेकर पहुंचे जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

मरने वालों के परिजनों का रो – रो कर बुरा हाल

परिजनों के मुताबिक सभी लोग पार्टी कर रहे थे। थोड़ी ही देर बाद तीनों अचानक से कुर्सी से गिर गए। गंभीर हालत में परिजन उन्हें अस्पताल में लेकर गए जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। ओमकार के घर वाले उसका शव लेकर चले गए जबकि जितेंद्र और मोनू के घर वालों का रो रो कर बुरा हाल हो गया था।

यह भी पढ़े: यूपी चुनाव फेज 6: राजभर का दावा BJP यहां नहीं खुलेगी खाता?

जांच के लिए डीएम संजय कुमार सिंह, एसपी अशोक कुमार मीणा, पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप ने पुलिस बल बनाया है जो कि इस केस की जांच पड़ताल करेगी। इस जांच टीम में सीओ राजवीर सिंह गौर, कोतवाल दिलीप कुमार विंद शामिल है ।

यह भी पढ़े: Up election 2022: मोदी के गढ़ में अखिलेश-ममता की हुंकार?

लेखक – मेघा रुस्तगी