Aato -Taxi से सफर करने वालों की भी जेब होगी ढीली, जाने क्या है वजह ?

0
74

Aato -Taxi और रिक्शा के किराये में संसोधन ।

देश में लगातार बढ़ती महंगाई से जनता त्रस्त है वहीं महंगाई का एक और झटका आम जनता को लगने जा रहा है। दिल्ली में अब ऑटो रिक्शा और टैक्सी से सफर करने वालों की जेब ढीली हो सकती है। दिल्ली सरकार ने पिछले महीने यहां Aato -Taxi और रिक्शा के किराए संशोधन के लिए एक समिति का गठन किया था, यह समिति राष्ट्रीय राजधानी में सीएनजी (CNG) की कीमतों में वृद्धि के संबंध में किराए में बढ़ोतरी की सिफारिश कर सकती है। जिससे ऑटो रिक्शा और Aato -Taxi में सफर करना पहले से महंगा हो सकता है। बता दे की ऑटो रिक्शा और Aato -Taxi के किराए में संशोधन के लिए बनी दिल्ली सरकार की समिति की टीम के कुछ मेंबर से पिछले 2 हफ्ते से ड्राइवर से की मांगों को समझने के लिए और ऑटो से सफर कर रहे हैं।

Aato -Taxi

क्या है  Aato -Taxi यूनियन की सरकार से मांग!
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक किराया संशोधन पर ड्राइवरों की प्रतिक्रिया हासिल करने के लिए ऐसा किया जा रहा है। क्योंकि वह प्रमुख हित धारक हैं समिति की रिपोर्ट जमा करने की समय सीमा अब नजदीक आ चुकी है। समिति इस हफ्ते के आखिरी तक अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप दे सकती है और किराए को बढ़ाए जाने की सिफारिश कर सकती है। गौरतलब है कि किराया बढ़ाने को लेकर कुछ ऑटो और टैक्सी यूनियंस नें चिंता जताते हुए कहा है कि ये कैब कंपनियों के साथ उनकी प्रतिस्पर्धा को और बढ़ाएगा। क्योंकि एक कैब कंपनीज रियासती दरो पर सवारी की पेशकश करती हैं। इस वजह से समिति के सामने उन्होंने अपनी चिंताओं को जाहिर किया है। टैक्सी यूनियन ने सरकार से मांग की है या तो सीएनजी पर सब्सिडी बढ़ाई जाए या फिर यात्री किराए में बढ़ोतरी की जाए। खबर में फिलहाल इतना ही।

यह भी  पढ़े : गेहूं के निर्यात पर बैन, बंदरगाहों पर अटके गेहूं के निर्यात को दी मंजूरी ।