Yogi 2.0 : Yogi Adityanath की स्पेशल 18 में एक भी मुस्लिम नहीं, मंत्रिमंडल में कई नए चेहरे तो कई के कटे नाम।

0
2
Yogi Adityanath

लखनऊ के अटल बिहारी वाजपेयी इकाना क्रिकेट स्टेडियम में शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में दूसरी बार शपथ ली। इस शपथ ग्रहण को भव्य बनाने की तैयारी बीते कुछ दिनों से लगातार चल रही थी। Yogi Adityanath के साथ अन्य 52 मंत्रियों ने भी शपथ लिया। इस मंत्रिमंडल में कई नाम चौकाने वाले भी रहे।

Yogi 2.0 : Yogi Adityanath की स्पेशल 18 में एक भी मुस्लिम नहीं, मंत्रिमंडल में कई नए चेहरे तो कई के कटे नाम।

केशव प्रसाद हार के भी बने उपमुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य चुनाव हारने के बाद भी एक बार फिर उप मुख्यमंत्री बनकर ही वापस लौटे हैं। पिछली सरकार में उप मुख्यमंत्री रहे दिनेश शर्मा को बृजेश पाठक ने रिप्लेस कर शपथ ली। योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के इस संसदीय मंत्रिमंडल में 16 कैबिनेट, 14 स्वतंत्र प्रभार जबकि 20 राज्य मंत्री बनाए गए हैं।

यह भी पढ़े: Russia Ukrain Conflict : रूस-यूक्रेन की जंग से हो रहा भारत को फायदा, गेहूं के निर्यात में हुई बढ़त।

कई नए चेहरे तो कई के काटे नाम

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की इस मंत्रिमंडल में कई नए चेहरों को भी शामिल किया गया है। जबकि पिछली सरकार में मंत्रियों की भूमिका निभाने वाले करीब 20 मंत्रियों को इस बार की सरकार में जगह नहीं दी गई है। पूर्व उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, सतीश महाना, श्रीकांत शर्मा, मोहसिन रजा समेत कई सारे मंत्रियों को इस मंत्रिमंडल में जगह नहीं दिया गया है।

यह भी पढ़े: TATA IPL 2022 : 14 साल बाद CSK ने बदला कप्तान, MS Dhoni के कप्तानी छोड़ने के पीछे की 5 मुख्य वजह।

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की इस नई कैबिनेट में 38 विधायक मंत्री बने, जबकि 9 एमएलसी को मंत्री बनाया गया है। योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में 5 नाम ऐसे हैं जो ना कहीं से एमएलसी है ना ही विधायक। इन सभी पांचों मंत्रियों को आने वाले 6 महीने के अंदर ही सदन जाना होगा। पिछली सरकार की बात करें तो 46 मंत्रियों ने योगी आदित्यनाथ के साथ शपथ लिया था, जिसमें 24 कैबिनेट मंत्री, 9 स्वतंत्र प्रभार और 13 को राज्य मंत्री बनाया गया था।

Yogi Adityanath ने 9 MLC को बनाया मंत्री

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपने मंत्रिमंडल में 9 एमएलसी को मंत्री बनाया, जिसमें उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, जितिन प्रसाद, एके शर्मा, संजय निषाद, आशीष पटेल, स्वतंत्र देव सिंह, धर्मवीर प्रजापति, दिनेश प्रताप सिंह और भूपेंद्र चौधरी का नाम शामिल है। योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में किसी भी मुस्लिम को जगह नहीं दी गई है। वही मंत्री के रूप में एक मुस्लिम नाम शामिल है।

यह भी पढ़े: Meerut : डीन बनने की चाहत में प्रोफेसर Aarti Bhatele ने वेटरनरी कॉलेज के डीन पर जानलेवा हमले की रची साजिश।

Yogi Adityanath के मंत्रिमंडल में 5 नाम ऐसे जो न विधायक हैं और ना ही कहीं से एमएलसी

जसवंत सैनी, दानिश आजाद अंसारी, दयाशंकर मिश्र दयालु, नरेंद्र कश्यप और जेपीएस राठौर शामिल है। योगी के मंत्रिमंडल में केशव प्रसाद मौर्य इकलौते ऐसे मंत्री हैं जो चुनाव हारने के बाद मंत्रिमंडल में शामिल हुए है। योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रिमंडल में हर जाति के लोगों को शामिल करने की कोशिश की है। 52 मंत्रियों में सबसे ज्यादा 18 मंत्री ओबीसी के बनाए गए हैं। वही 10 ठाकुर, 7 दलित, 8 ब्राम्हण, 3 बनिया, दो पंजाबी और एक मुस्लिम चेहरा शामिल किया गया है।

यह भी पढ़े: Pune Rape Case: पुणे में नाबालिग लड़की से पिता और भाई ने किया रेप, दादा और एक रिश्तेदार भी शामिल।