मुरादाबाद स्वास्थ्य विभाग : कोरोना की वैक्सीन लेने वाले 99 प्रतिशत लोगों पर कोरोना का प्रभाव नहीं,आकड़ो से समझे पूरा मामला।

0
20

पूरी दुनिया में कोरोना से बचने का एकमात्र उपाय अब तक कुछ मिल पाया है और जिसपर दुनियाभर के तमाम वैज्ञानिकों को उम्मीद भी है तो वो है कोरोना की वैक्सीन। लेकिन आज भी भारत में बहुत से लोग वैक्सीन लगवाने को लेकर असंतुष्ट नजर आ रहे है। लोगो को वैक्सीन पर भरोसा नहीं है। भारत के कुछ राजनितिक दलों ने अपने बेतुके बयान से लोगो के अंदर एक तरह की भय की स्थिति बनी हुई है। देश के बहुत से गावों में लोग टीका लगवाने को लेकर अभी भी सोच में है और टीका नहीं लगवा रहे है। ऐसे में एक आकड़ा आया है जिससे ऐसे लोगो को थोड़ा समझने में आसानी होगी और टीका पर यकींन बढ़ेगा।

मुरादाबाद स्वास्थ्य विभाग ने 15 जनवरी से 23 मई 2021 तक के आकड़ा जारी करते हुए कहा कि टीकाकरण के बाद संक्रमण का खतरा कम हुआ है। कोरोना के टीके कि दोनों डोज लेने वाले 99.79 प्रतिशत लोग पूरी तरह से स्वस्थ है और इन्हे कोरोना का कोई असर नहीं हुआ है। यानी कि वैक्सीन लेने के बाद लोगो को कोरोना का संक्रमण नहीं हो रहा हैं। पहली डोज लेने वाले करीब 99 .87 प्रतिशत लोगो को कोरोना का संक्रमण नहीं हुआ।

मुरादाबाद मंडल के 5 जिलों में दोनों डोज लेने वाले लोगो कि संख्या 1,91,850 है जिसमे से सिर्फ 407 लोग ही कोरोना संक्रमित हुए। इसका मतलब कुल 0.21 प्रतिशत लोग ही दोनों डोज लेने के बाद कोरोना कि चपेट में आये और 99 .79 टीके कि दोनों डोज लेने के बाद सुरक्षित है।वही अगर देखा जाए तो पहली डोज लेने वालों कि संख्या 6,67,727 है जिसमे से सिर्फ 873 लोग ही संक्रमित हुए है। इसका मतलब पहली डोज लेने के बाद सिर्फ 0.13 प्रतिशत लोग ही कोरोना के चपेटमें आये जबकि 99.87 प्रतिशत लोग बिलकुल सुरक्षित है।

अब ऐसे लोग जो टीके को लेकर खुद को सहज महसूस नहीं कर रहे है तो ये आकड़े उन लोगो को प्रेरित जुरुर करेंगे। और जो भी लोग अब तक टीके लगवाने को लेकर दुविधा में है ऐसे लोग इन आकड़ो से अब पूरी स्थिति को समझग पाएंगे और उम्मीद है कि वो भी अब टीके लगवायेगे और दूसरों को भी टीके के लिए प्रेरित करेंगे।