Corona Virus : रूस में कोरोना वायरस की तबाही अभी भी है जारी, लगातार पांचवें दिन भी 650 से ज्यादा मौत।

0
57
Corona Virus

Corona Virus की तबाही रूस में थमने का नाम नहीं ले रही है। रूस में Corona Virus के संक्रमण के कि वजह से पांचवें दिन भी 650 से ज्यादा मौत दर्ज की गई। इतनी ज्यादा तादात में मौत महामारी से प्रतिदिन होने वाली मौत की सर्वाधिक संख्या है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक बात करें तो बीते 24 घंटे में 672 लोगों ने कोरोना की वजह से अपनी जान गवाई है।

यह भी पढ़े:  Technology: बहुत जल्द व्हाट्सएप से शेयर कर सकेंगे एचडी वीडियो, जाने इस नए फीचर्स के बारे में।

डेल्टा वेरिएंट के मामले तेजी से बढे

रूस में वैक्सीन की धीमी रफ्तार जबकि डेल्टा वैरिएंट के बढ़ते मामले की वजह से मृतकों की संख्या बढ़ रही है। इससे पहले अगर हम बात करें गुरुवार को 679 और बुधवार को 669 मौत दर्ज की गई थी। महामारी के इस संकट से निपटने के लिए रूस में लोगों को बूस्टर डोज देने की शुरुआत कर दी गई है।

यह भी पढ़े:  Rafale Fighter Plane : राफेल डील की जांच करने के लिए फ्रांस में हुई जज की नियुक्ति।

रूसी स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक गुरुवार को उन लोगों को कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज देने की शुरुआत हुई जो संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं या जिन्हें 6 महीने पहले वैक्सीन लगी हुई थी। कोरोना के बढ़ते मामले और तेजी से मौत की संख्या में बढ़ोतरी होने की वजह से इस कार्यक्रम को शुरू किया गया है।

मास्को के मेयर ने कि लोगों से अपील

मास्को के मेयर सर्गेई सोबयानिन के अनुसार उन्होंने बूस्टर डोज लगवाई है और शहर के निवासियों से भी यह बूस्टर डोज लेने की अपील की। दावा किया जा रहा है कि बूस्टर डोज लेने से वैक्सीन का प्रभाव बढ़ जाएगा। मेयर सर्गेई सोबयानिन ने अपने एक ब्लॉग में लिखा कि महामारी के कारण पैदा हुए हालात को देखते हुए डॉक्टरों ने टीकाकरण के 6 महीने बाद वैक्सीन की बूस्टर डोज लेने की सलाह दी है। मैं आपसे विनती करता हूं कि वायरस से अतिरिक्त सुरक्षा पाने का मौका हाथ से ना जाने दे।

यह भी पढ़े:  India tour of Srilanka : Sri Lanka Tour पर आई Team India पर क्यों भड़क गए अर्जुन राणातुंगा?

रूस में वैक्सीन लेने के बाद भी लोग Corona Virus के डेल्टा वेरिएंट की चपेट में आए हैं। इस स्थिति को देखते हुए बूस्टर डोज लगाने की सलाह लोगों को दी जा रही है। बताया जा रहा है कि इस बूस्टर डोज से ज्यादा सुरक्षा मिलेगी। मास्को के स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक स्पूतनिक वी और स्पूतनिक लाइट के बूस्टर डोज देना शुरू किया जा चुका है।

यह भी पढ़े:  Uttarakhand : तीरथ सिंह रावत ने दिया इस्तीफा, नए सीएम होंगे पुष्कर सिंह धामी।