Delhi Crime News : क्या एक अंगीठी ने ली 4 बच्चों समेत 5 लोगों की जान?

0
329

दिल्ली (Delhi Crime News) के शाहदरा ज़िले के सीमापुरी इलाके में बुधवार तारीख 19 जनवरी 2022 को एक ही परिवार के पांच लोगों की कमरे में लाश मिलने से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। यह मौतें संदिग्ध हालात में हुईं। पड़ोसियों को जब मामले की जानकारी हुई तो उन्होंने पुलिस को बुलाया। पुलिस को चौथी मंज़िल में रहने वाले इस परिवार में से 5लोगों की लाशें संदिग्ध हालत में मिली।

यह भी पढ़े: Up election 2022: यूपी विधानसभा में 5 सालों में 174 विधायकों ने नहीं पूछे एक भी सवाल।

मृतकों में 4 बच्चें भी हैं शामिल

शिनाख्त के बाद पता चला कि मृतकों में राधा (32), कोमल (11), नितिन (8), रोशनी (6) और आरव (4) हैं। पुलिस ने सभी की बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए जीटीबी अस्पताल में भेज दिया है। पुलिस की क्राइम टीम और फॉरेंसिक साइंस लैब ने मौके से सभी सैंपल इक्कठे कर लिए हैं। पुलिस को कमरे में एक जली हुई अंगीठी मिली, जहां हवा आने – जाने का रास्ता भी नहीं है, इसलिए शुरूआती जांच में धुएं से दम घुटने से मौत होने की आशंका जताई जा रही है।

Delhi Crime News

 

20 मिनट तक दरवाजा खटकाने के बाद भी मोहित ने दरवाजा नही खोला

खबरो के मुताबिक मकान मालिक अमरपाल जो कि शालीमार गार्डन के निवासी है, वह बुधवार की सुबह करीब 11: 00 बजे घर के मुखिया मोहित उर्फ़ कालिया से मकान का किराया लेने आए थे। करीब 20 मिनट तक दरवाज़ा खटखटाने के बाद भी दरवाज़ा न खुलने पर वह वापस लौट आए।

यह भी पढ़े: UP Assembly Election 2022 : BJP में भागमभाग, क्या योगी के विधायकों को तोड़ रहे है अखिलेश ?

कुछ देर बाद पड़ोसियों ने देखा कि मोहित अपने छोटे बेटे को लेकर भाग रहा था। पूछने पर मोहित ने बताया कि उसका छोटा बेटा आँख नहीं खोल रहा है। तभी पड़ोसियों ने कमरे में देखा कि राधा और उसके 3बच्चे कमरे में मृत पड़े हैं। दोपहर करीब 1:30 बजे पुलिस को कॉल कर के बुलाया गया तो मौके पर एसपी अक्षय रस्तोगी और एसएचओ विनय यादव पुलिस टीम के साथ पहुंचे। वहीं हेडगोवर अस्पताल से छोटे बेटे यानी आरव की मौत की खबर भी मिल गई।

यह भी पढ़े: IND vs WI: 18 सदस्य Team India का ऐलान, Rohit Sharma की टीम में वापसी, युवा खिलाड़ियों को मिला मौका?

मोहित के कॉल रिकॉर्ड्स भी खंगाल रही है पुलिस

फिलहाल पुलिस मोहित से पूछताछ कर रही है। पुलिस इस बात की जांच भी कर रही है कि जब सुबह मकान मालिक आया था और मोहित जिंदा है तो उसने दरवाज़ा क्यों नहीं खोला। अगर दम घुटने से सबकी मौत हुई है तो मोहित के बयान के हिसाब से वह कैसे जिंदा बच गया। जब वह अपने छोटे बेटे को अस्पताल तक लेके जा सकता है तो 20 मिनट तक दरवाज़ा खटखटाने के बाद भी उसकी नींद क्यों नहीं खुली। पुलिस मोहित के कॉल रिकॉर्ड्स भी खंगाल रही है जिससे यह पता लग सके कि वह रात से सुबह तक किस – किस के संपर्क में था।

पुलिस को मोहित पर है शक

राधा के परिजनों ने बताया कि मोहित नशे का आदी है। उसका एक भाई रेप केस में जेल में है। मोहित का एक छोटा भाई भी है। उसकी एक बड़ी बहन सीमापुरी इलाके में ही रहती है। मोहित के बयान से तो शक की सुई मोहित पर ही आकर अटक रही है। हालांकि जांच में यह सच सामने आएगा कि आखिर मौतें दुर्घटना के चलते हुईं या फिर इसके पीछे कोई साज़िश है।

यह भी पढ़े: Up election 2022: एक्शन में समाजवादी पार्टी 56 नए प्रत्याशियों की लिस्ट जारी!

 

लेखक – कशिश श्रीवास्तव