अब समंदर में भी मेड इन इंडिया की गूंज ।

0
2
indian navy submarine

रक्षा मंत्रालय ने 6 सबमरीन के निर्माण की दी मंजूरी 

हर दिन देश की रक्षा मंत्रालय अपनी ताकत को मजबूत करने के लिए कोई न कोई बड़े फैसले लेती रहती है। रक्षा मंत्रालय ने भारतीय नौसेना की ताकत को बढ़ाने के लिए एक बड़ा फैसला किया है। प्रोजेक्ट 75 इंडिया के तहत रक्षा मंत्रालय ने 6 सबमरीन के निर्माणों की मंजूरी दे दी है।

खबर के अनुसार काफी लंबे वक्त से यह प्रोजेक्ट रुका हुआ था जिसको अब पूरा करने का फैसला किया गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में हुई एक बैठक इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की मंजूरी दी गई । इस प्रोजेक्ट की लागत करीब 50 हजार करोड़ रुपए है।

इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की जिम्मेदारी स्वदेशी कंपनी मझगांव डॉक्स लिमिटेड और L&T को दिया गया है। यह दोनों कंपनियां किसी एक विदेशी शिपयार्ड के साथ मिलकर इस पूरे प्रोजेक्ट की जानकारी सौपेगे और बीड लगाएंगे।

यह भी पढ़े : पंजाब की राजनीति में कांग्रेस की स्थिति हुई डमाडोल।

आइए जानते हैं कि आखिर यह प्रोजेक्ट 75 इंडिया क्या है?

भारतीय नौसेना ने इस प्रोजेक्ट-75 की शुरुआत समुंद्र इलाकों में अपनी ताकत को बढ़ाने के लिए की थी । इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत 6 सबमरीन बनाई जानी है, जो डीजल – इलेक्ट्रॉनिक बेस्ड होंगे। इनका साइज मौजूदा स्कॉर्पियन सबमरीन से सबमरीन से 50 फ़ीसदी बडा होगा। भारतीय नौसेना की सबमरीन को ले करके अपनी एक खास रिमांड रखी है।

यह भी पढ़े : सफदरगंज अस्पताल में नर्सों ने शुरू किया आंदोलन।

भारतीय नौसेना ने कहा की इन सबमरीनो में हेवी ड्यूटी फायरपावर होनी चाहिए ताकि एंटी शिप क्रूज मिसाइल के साथ-साथ 12 लैंड अटैक क्रूज मिसाइल को भी इस पर तैनात किया जा सके। इसके अलावा नेवी ने मांग करी है की सबमरीन में 18 हैवीवेट टोरपीडो को ले जाने के लायक क्षमता होना चाहिए।

यह भी पढ़े : भारत में अमेरिकी वैक्सीन को लाने के लिए रास्ता साफ़।

आपको बता दें भारतीय नेवी के पास करीब 140 सबमरीन सरफेस वारशिप हैं । वहीं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के पास सिर्फ 20 ही है। लेकिन हमारी नौसेना को पाकिस्तान से नहीं बल्कि चीन से मुकाबला करना है और उस के संदर्भ में अपनी मजबूती को बढ़ानी हैं। चीन लगातार हिंद महासागर में अपनी नजर जमाए बैठा है और यही कारण है कि अरब सागर से श्रीलंका से सटे समुद्र तक भारत ने अपनी नजर रखनी शुरू कर दी है।

यह भी पढ़े : इंडियन एयर फाॅर्स में होने वाला है बड़ा बदलाव, टॉप अधिकारीयों में बदलाव।