उत्तर प्रदेश रोजगार के मामले में दिल्ली, राजस्थान ,बंगाल से आगे।

0
245
yogi aaditynath uttar pradesh cm

रोजगार में यूपी आगे

देश में कोरोना महामारी के बीच करोड़ों लोग अपनी नौकरी गंवा रहे हैं। देश में बेरोजगारी का आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। इस महामारी के बीच देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश से रोजगार को लेकर के एक बड़ी खबर आई है।

यह भी पढ़े : सफदरगंज अस्पताल में नर्सों ने शुरू किया आंदोलन।

रोजगार के आकड़े क्या कहते है ?

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनामी की मई महीने की रिपोर्ट के अनुसार यूपी में बेरोजगारी की दर है 6.9 फ़ीसदी। जारी रिपोर्ट के अनुसार देश की राजधानी दिल्ली में बेरोजगारी दर 45.6 फ़ीसदी, राजस्थान में 27.6, फ़ीसदी केरल में 23.5 फ़ीसदी, पश्चिम बंगाल में 19.3, फ़ीसदी तमिलनाडु में 28.4, फ़ीसदी झारखंड में 16, आंध्र प्रदेश में 13.5, फ़ीसदी पंजाब में 8.8 फ़ीसदी और छत्तीसगढ़ में 8.3 फ़ीसदी है।

यह भी पढ़े : अब समंदर में भी मेड इन इंडिया की गूंज ।

अगर हम बात करें कोरोना संकट के बीच तो उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए यह एक बहुत बड़ी राहत देने वाली खबर है। आंकड़ों के अनुसार अगर बात करें तो उत्तर प्रदेश रोजगार देने के मामले में दिल्ली, राजस्थान ,पश्चिम बंगाल से भी आगे है । इसकी जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता ने दी है । यूपी में मई के महीने में बेरोजगारी दर 6.9 फ़ीसदी रही है।

यह भी पढ़े : पंजाब की राजनीति में कांग्रेस की स्थिति हुई डमाडोल।

रोजगार के अवसर नोएडा प्रोजेक्ट से मिलेंगे

आपको बताते चलें की योगी सरकार ने ग्रेटर नोएडा में सिटी निर्माण करने का आदेश दिया था। इस फिल्म सिटी का निर्माण कार्य 3 चरणों में पूरा करना है। इस कार्यकाल का फाइनल डीपीआर 8 जून को सरकार को भेज दिया जाएगा। डीपीआर को तैयार करने की जिम्मेदारी सीबीआरइ कंपनी को दी गई है ,जो अपनी फाइल 7 जून को सौप देगी। यूपी के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फिल्म सिटी योजना एक दूरगामी परिणाम देने वाली परियोजना है।

यह भी पढ़े : भारत में अमेरिकी वैक्सीन को लाने के लिए रास्ता साफ़।